पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • ‘मैल मन का छुड़ाया ना सत्संग में गंगा नहाने का क्या फायदा...’

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

‘मैल मन का छुड़ाया ना सत्संग में गंगा नहाने का क्या फायदा...’

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रामस्नेहीसंप्रदाय के पीठाधीश्वर आचार्य रामदयाल महाराज के सानिध्य में सोमवार सुबह प्रवचन के दौरान कवि सम्मेलन हुआ। कवियों ने धर्म, दर्शन आराधना से अोत प्रोत कविताएं प्रस्तुत कर श्रोताओं को आनंदित किया।

दिल्ली की कवियित्री सुमन सोलंकी ने ‘मानवता के पथ पर निर्भिक बढ़े आगे..’ ‘साहित्य सृजन पर सर्वज्ञ अर्पण...’ ‘मैल मन का छुड़ाया ना सत्संग में, गंगा नहाने का क्या फायदा...’ सुनाकर श्रोताओं को आनंदित किया। मध्यप्रदेश के कवि अशोक भाटी ने कृष्ण दर्शन पर काव्य पाठ करते हुए कविता ‘मै माखन चोरी करूंगा, घंटी मत बजाना’ ‘मां की ममता’ प्रस्तुत कर श्रोताओं को गुदगुदाया। कवियित्री भुवन मोहिनी ने कविता ‘जगन्नाथ के ध्वज को छूकर आई, हवा तुम्हारा वंदन....’ कविता प्रस्तुत कर तालियां बटोरी। कवि अब्दुल गफ्फार बाल कवि आदित्य मुछाल ने भी काव्य पाठ किया।

भीलवाड़ा. रामद्वारा में चातुर्मास के दौरान काव्य पाठ सुनतीं महिलाएं।

गुत्थियां सुलझाए वही आदमी : आचार्य

आचार्यरामदयाल ने कहा कि शब्द ही आराधना शब्द ही साधना है। उपलब्धियों पर इतराना नहीं चाहिए। उन्होंने बताया कि जीवन में उलझाने वाले बहुत मिल जाएंगे पर गुत्थियां सुलझाएं वहीं आदमी है। समय के साथ समझ होना जरूरी है। प्रवचन के दौरान लक्ष्य राम ने आनंद रामायण के प्रसंग सुनाते हुए बताया कि नीति की उपासना अनीति का त्याग करो। बद्री नारायण लढा ने बताया कि प्रवचन प्रतिदिन सुबह 9 से 10:30 बजे तक रामद्वारा में हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें