बीरा रमक-झमक होय आयज्यो, सरदार भतीजा सागै....

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
काशीजीजाने के जिद में परकोटे की तंग गलियों भागते बटुक, समझाइश के बाद लाल लोकार और केसरिया लाडो जीवंतो रै रे...के गीत के साथ वापस घर लौटे। इन्हीं बटुकों के लिए बीरा रमक-झमक होय आयज्यो, सरदार भतीजा सागै लाइज्यो जी...गीत गाती महिलाएं और ढोल ताशों की आवाज के साथ थिरकते ननिहाल वाले पहुंचे मायरा लेकर। यह नजारा सोमवार को उन घरों के आस-पास का था जहां पुष्करणा सावे के तहत बटुकों का यज्ञोपवीत संस्कार हुआ।

शाम होते-होते बटुक परिजनों के साथ ननिहाल पहुंचे तो यहां देरावळी में उनकी खातिरदारी भी हुई। इन सबके बीच सावे में विवाह वाले घरों से मगरे रा मूंग मंगाओं म्हारी पीठी..., लखले लखले लाडला...सरीखे गीत सुनाई दिए तो हर कोई समझ गया कि सावे में विवाह वाले वर-वधू के हाथधान लिए गए हैं। इन सबके बीच बाजारों में खरीदारी करते पुरुष, प्रसाद लेकर जाती महिलाएं और खोळे भरवाकर चेहरे लाल किए निकले सगा-सगी ने राहगीरों को भी सावे की रमक-झमक का आभास करा दिया।

शहर के मोहल्ले, गलियां पाटों पर सावे की रौनक तेज हो गई। परकोटा लाइटों से जगमग हो गया तो विवाह वाले घराें में बाहर से आए रिश्तेदारों ने भी सावे की रौनक बढ़ादी। इसके साथ बुधवार को आयोजित होने वाले नगर के सबसे बड़े वैवाहिक उत्सव पुष्करणा सावे की रंगत परकोटे में पूरी तरह दिखने लग गई। मंगलवार को विवाह वाले घरों में वर-वधू की गणेश परिक्रमा छींकी निकलेगी तो खोळा मायरे के कार्यक्रम भी होंगे।

सोमवार को हुए यज्ञोपवित संस्कार में सबसे छोटे बटूकों का हुआ सम्मान।

सावा धमाल में गूंजे विवाह के गीत

रमक-झमकडॉटकॉम की ओर से सोमवार को सावा धमाल का आयोजन कर विवाह के पारंपरिक गीतों की प्रस्तुतियां दी गई। कार्यक्रम में प्रहलाद ओझा भैरूं, आरके सुरदासानी,बी आर पुरोहित,आनंद मस्ताना,कैलाश पुरोहित,रोड़ा महाराज,भैरु रतन छंगाणी सहित अनेक कलाकारों ने गीतों की प्रस्तुतियां दी। सोमवार को हुए यज्ञोपवीत संस्कार कार्यक्रम में रमक-झमक डॉटकॉम की ओर से आठ वर्ष के बालमुकुंद नौ वर्षीय कुंजबिहारी बिस्सा का सम्मान किया गया। दूसरी ओर से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत विवाह वर वधू को आठवां वचन बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का दिलाने के तहत सोमवार को इसके पोस्टर का विमोचन जुगलकिशोर ओझा ने किया। अभियान की संयोजक मीना आसोपा ने कहा कि विवाह में वर-वधू को बेटी-बचाने बेटी पढ़ाने का वचन दिलाने की बात भी की गई।

खबरें और भी हैं...