सावे की महता पर हर चौक में होगी चर्चा

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुष्करणासमाज के सामूहिक विवाह में विभिन्न पौराणिक संस्कृति को बचाने को लेकर नत्थूसर गेट के अंदर स्थित कार्यालय में पुष्करणा ब्राह्मण परिषद संस्था ने बैठक की। बैठक में निर्णय लिया कि परिषद कार्यकर्ता शहर में लोगों से पुष्करणा सावे से जुड़ी परंपराओं की महत्ता पर चर्चा करेंगे। पंडित नथमल पुरोहित के सान्निध्य में राजेश चूरा, रिखबदास बोड़ा, रतना महाराज, शिवनारायण पुरोहित, भंवर पुरोहित, शिव कुमार रंगा, रामकुमार व्यास, कम्मू महाराज ने चर्चा कर सामूहिक रूप से बताया कि हर्षों का चौक, कीकाणी व्यासों का चौक, रताणी व्यास का चौक, बारहगुवाड़, मोहता चौक, आचार्य का चौक, साले की होली, जस्सूसर गेट, नत्थूसर गेट, जयनारायण व्यास कॉलोनी, मुरलीधर व्यास कॉलोनी सहित अन्य जगहों पर जाकर पुरानी परंपराओं को जीवंत बनाए रखने के लिए समाज के लोगों से संपर्क करेंगे।

पुष्करणा सावे पर सफाई और यातायात व्यवस्था हो दुरूस्त

पुष्करणासावा एक फरवरी से शुरु हो रहा है। सावे की तैयारियों के लिए शहर में नाली, सड़क, लाइटें और यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए शिष्टमंडल ने पीडब्ल्यूडी, नगर निगम, यूआईटी, जलदाय विभाग विद्युत निगम के अधिकारियों से मुलाकात कर पत्र दिया। शिष्टमंडल का नेतृत्व कर रहे पार्षद राजा सेवग और मोतीलाल हर्ष ने बताया कि शहर के भीतरी क्षेत्र में पेचवर्क करवाया जाए। श्री आचार्य ने शिष्टमंडल को आश्वासन दिया कि 30 लाख रुपये की निविदा विभिन्न कार्यों के लिए स्वीकृत है। जिससे नालियों एवं क्रॉस पर लोहे के जंगले पतरे लगाने के कार्य होंगे। यूआईटी के अधिकार वाले क्षेत्र मुरलीधर व्यास नगर, नत्थूसर बास में टूटी सड़कों के मरम्मत के लिए निवेदन किया गया है। जलदाय विभाग और विद्युत निगम को भी मांगों से अवगत कराया गया है। शिष्टमंडल में जे.पी व्यास, कमल सांखला, ओम पारीक, गोपाल आचार्य सहित कई कार्यकर्ता शामिल थे।

खबरें और भी हैं...