पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध में रेलवे कर्मचारियों ने किया स्टेशन पर प्रदर्शन

मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध में रेलवे कर्मचारियों ने किया स्टेशन पर प्रदर्शन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वेस्टसेंट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन ने रेलवे बोर्ड की ओर से 30 जनवरी को निकाले गए मजदूर नीतियों के विरोध में स्वर्ण मंदिर मेल मथुरा-सवाईमाधोपुर पैसेंजर पर काले झंडे दिखा कर प्रदर्शन किया।

मंडल उपाध्यक्ष चंदशेखर शर्मा ने बताया कि यूनियन ने ग्रेड पे 4200 एवं उससे ऊपर के ग्रेड पे के सेफ्टी केटेगरी के कर्मचारी पर्यवेक्षकों के ट्रेड यूनियनों में पदाधिकारी बनने और भाग नहीं लेने के काले कानून को वापिस लेने के लिए काले झंडे दिखा कर प्रदर्शन किया गया। सोमवार को आल इंडिया रेलवे मेंस फैडरेशन के आह्वान पर भारतीय रेल में काला दिवस मनाया गया। इस प्रकार का कानून लाना श्रम एवं मजदूर विरोधी है। कर्मचारी काला बैज काली पट्टी बांध कर ड्यूटी पर मौजूद रहे। इस मौके पर मंडल उपाध्यक्ष चंदशेखर शर्मा, शाखा अध्यक्ष दामोदर सिंह,शाखा सचिव ओपी कटारा, लवानिया, उमाकांत शर्मा, अजय चतुर्वेदी, यज्ञवीर सिंह, अरविंद तिवारी, प्रहलाद सिंह, मनेाज, नरेंद्र गुर्जर, रज्जो, रेवती प्रसाद, जसवंत धाकड़, जेके सिनसिनवार आदि मौजूद थे।

भरतपुर. बाइक रैली निकालते रेलवे कर्मचारी।

भरतपुर. काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन करते रेलवे यूनियन के पदाधिकारी।

भरतपुर| वेस्टसेंट्रल मजदूर संघ ने केंद्र सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध में मोटर साइकिल रैली निकाली। मंडल उपाध्यक्ष बनै सिंह धाबाई ने बताया कि सरकार संगठनों को कमजोर करने के लिए लगातार घिनौना प्रयास कर रही है। रेल मंत्रालय ने 30 जनवरी को यूनियनों के सेफ्टी केटेगिरी के कर्मचारियों को यूनियन पदाधिकारी पद से हटाने के आदेश निकाल कर कानून का उल्लंघन किया है। संघ के अध्यक्ष केके सिंह ने बताया कि यदि सरकार ने इस आदेश को वापिस नहीं लिया तो गंभीर परिणाम भुगतने होगे। इस मौके पर बनै सिंह, केके सिंह, सचिव महामाया सिंह, प्रेमदास, विनय कटियार, मेघसिंह, जितेंद्र सिंह, कृष्ण कन्हैया, दिनेश चंद, मानसिंह, सुभाष चंद, भागचंद, सतीश बघेल, मुरारी लाल शर्मा आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...