पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • 108 एंबुलेंस मामले की सीबीआई जांच कराना लोकप्रियता का फंडा

108 एंबुलेंस मामले की सीबीआई जांच कराना लोकप्रियता का फंडा

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्वमुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि 108 एंबुलेंस खरीद मामले की सीबीआई जांच कराना सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का फंडा है। उन्होंने कहा कि सरकार चाहती, तो इस मामले की प्रदेश में ही जांच करा सकती थी, लेकिन जानबूझकर मामले को सीबीआई को सौंपा गया है।

गुरुवार को जयपुर से अलवर जाते समय गहलोत कुछ देर कलेक्ट्रेट चौराहे पर रुके। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से वार्ता में कहा कि जनता भाजपा सरकार की असलियत पहचान गई है। प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है तथा आम आदमी को महंगाई से राहत नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि उप चुनावों की तरह निकाय चुनावों में भी भाजपा को जनता आइना दिखा देगी। चौराहे पर कार्यकर्ताओं ने गहलोत का माला साफा पहनाकर स्वागत किया तथा आतिशबाजी की। पूर्व मंत्री मुरारी लाल मीणा, रामनाथ राजोरिया, सुरेंद्र सिंह गुर्जर, राकेश चौधरी, शेषावतार शर्मा, कन्हैयालाल सैनी, प्रेम राणा, विश्वनाथ, राकेश, देहात अध्यक्ष मोहरपाल मीणा, जिला महामंत्री रामनिवास गांगड्या, पदम गुर्जर, बालकिशन, पर्व पालिकाध्यक्ष अब्दुल माजिद, पार्षद जाबिर खान, रईस खान, मोतीलाल मीणा, एससी प्रकोष्ठ अध्यक्ष बाबूलाल, रामप्रताप, मान दादा सिंह, डॉ. सी.एल. मीणा आदि ने गहलोत का स्वागत किया।

दौसा. कलेक्ट्रेटचौराहे पर पूर्व मुख्यमंत्री का स्वागत करते कार्यकर्ता।