• Hindi News
  • National
  • पुस्तक मेले में स्टूडेंट्स ने जानी स्व:अध्ययन की विशेषताएं

पुस्तक मेले में स्टूडेंट्स ने जानी स्व:अध्ययन की विशेषताएं

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर| पुस्तकेंमनुष्य की सबसे अच्छी मित्र होती हैं, क्योंकि इनसे मिलने वाला ज्ञान कभी भी साथ नहीं छोड़ता। वह हमेशा एक सच्चे मित्र की तरह जीवनभर कठिन परिस्थितियों में इंसान की सहायता करता है। यह बात सोमवार को नोजगे पब्लिक स्कूल में शुरू हुए तीन दिवसीय पुस्तक मेले में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद केंद्रीय साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित लेखक मोहन आलोक ने कही। समय-समय पर जीवनोपयोगी गतिविधियों का क्रियान्वयन के तहत नोजगे पब्लिक स्कूल में ‘स्कोलास्टिक बुक कंपनी’ के सहयोग से पुस्तक मेले की शुरुआत हुई। मोहन आलोक ने पुस्तकों के महत्व पर प्रकाश डाला तथा स्व: अध्ययन के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि अच्छा साहित्य ही विद्यार्थी की सफलता में विशेष भूमिका निभाता है। संस्था प्रधान ने पुस्तकों के गुणों पर प्रकाश डाला और बताया कि पुस्तकों के अध्ययन से व्यक्तित्व में निखार लाया जा सकता है। पुस्तक मेले में प्रत्येक विषय से संबंधित अत्यंत रोचक ज्ञानवर्धक पुस्तकें अवलोकन के लिए रखी गई हैं। छोटे बच्चों की रुचि की चित्र कथाएं और जाने-माने रचनाकारों की अनेक कृतियां भी शामिल हैं। कार्यक्रम में एमडी पीएस सूदन, जीएम कमलजीत सूदन समेत शिक्षक, स्टाफ और बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...