• Hindi News
  • National
  • मच्छरों का इतना आंतक, दुखी हो 5 ग्राम पंचायतों के लोग धरने पर बैठे, बोले जब तब छुटकारा नहीं मिलता, त

मच्छरों का इतना आंतक, दुखी हो 5 ग्राम पंचायतों के लोग धरने पर बैठे, बोले- जब तब छुटकारा नहीं मिलता, तब तक आंदोलन चलेगा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आपनेविभिन्नमांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन करते हुए लोगों को देखा होगा, लेकिन पीलीबंगा की ग्राम पंचायत बड़ाेपल, मानकथेड़ी, भैरूसरी, जाखड़ांवाली और दौलतावाली में ग्रामीण मच्छरों से इतने परेशान हो गए कि उन्होंने मच्छरों से निजात पाने के लिए बड़ोपल के चक ठाकरूवाला के भभूता सिद्ध मंदिर के पास शुक्रवार से अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया। उनकाे कहना है कि यह धरना तभी समाप्त होगा तब हम मच्छरों से निजात मिलेगी।

ग्रामीणों ने बताया कि इस ग्राम पंचायत में मच्छरों का इतना आंतक है कि अब तो यहां पर रहना ही दुश्वार हो गया। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र की 5 पंचायतों में सेम के पानी के कारण क्षेत्र में विषैले मच्छरों का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। मच्छरों के प्रकोप से क्षेत्र में मलेरिया, डेंगू आदि जानलेवा बीमारियों का प्रकोप ज्यादा खतरा है।

इस समस्या को लेकर कई बार प्रशासन एवं चिकित्सा अधिकारियों को अवगत करवाया गया मगर समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं दिए जाने के चलते मजबूरन क्षेत्र की 5 पंचायतों के ग्रामीणों को आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ा।

धरनार्थियों ने बताया कि जब तक उनकी समस्या का समाधान नहीं होता, तब तक उनका धरना जारी रहेगा। यदि प्रशासन ने समय रहते समस्या का समाधान नहीं किया तो आंदोलन को और तेज किया जाएगा। शुक्रवार को धरनास्थल पर नौजवान सभा के कृष्ण लुगरिया, डायरेक्टर रोहिताश स्वामी, एसपी जाखड़, अवतार सिंह, बजरंग दल के संयोजक करणी तरड़, रामदेव भादू, सुखवीर सिंह, भगवाना राम ओड, श्योनारायण सिहाग, सुनील सिहाग राय सिंह जाखड़ आदि मौजूद थे। वहीं एसडीएम अवि गर्ग ने बताया कि इस संबंध में कलेक्टर का अवगत कराया हैं और बीसीएमओ को लिखित आदेश देकर उस क्षेत्र में मच्छररोधी दवाएं और अन्य व्यवस्थाएं करने के आदेश भी दे दिए गए है।

भास्कर ख़ास

खबरें और भी हैं...