पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सिंहपुरा में जंगली जानवर के होने की आशंका, वन विभाग ने लगाया जाल

सिंहपुरा में जंगली जानवर के होने की आशंका, वन विभाग ने लगाया जाल

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
क्षेत्रमें आतंक मचा रहे अज्ञात जंगली जानवर का सोमवार को तीसरे दिन भी कोई सुराग नहीं मिला। उधर, गांव में वन विभाग की टीम दस किलोमीटर एरिया में रात दिन एक गश्त कर रही है। लेकिन अज्ञात जंगली जानवर का कोई पता नहीं चल पाया है। सहायक वनपाल दौलतराम ने बताया की संभावित जगह पर जाल लगाए हैं। शाम को सहायक उपवन संरक्षक राकेश कुमार ने घटनास्थल का जायजा लिया। उन्होंने आस-पास क्षेत्र गलियों में ग्रामीणों द्वारा बताए पैरों के निशान आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने पैरों के निशान से जंगली भेड़िया होने की आशंका जताई है। इस मौके पर उन्होंने वन विभाग के कर्मचारियों को पीओपी डालकर पैरों के निशान के सैंपल लेने के निर्देश दिए हैं। ग्रामीणों ने घटना के दूसरे दिन रेंजर जगदीश सहारण को पैरों के निशान बताए थे। मगर उन्होंने माेरजंडसिखान में पैरों से मिलान नहीं होना बताया। उपवन संरक्षक हनुमानगढ़ राकेश कुमार ने बताया कि अज्ञात जंगली जानवर के पैरों के निशान के सैंपल ले लिए गए हैं, जो जांच के लिए भेजे जाएंगे। इसके लिए जयपुर से विशेष टीम बुलाई गई है।

सिंहपुरा. पैरों के निशान का निरीक्षण करते अधिकारी।

संगरिया| जंगलीजानवर के आंतक से बचाने मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर सोमवार को तहसीलदार एसएन सुथार को ग्रामीणों ने ज्ञापन सौंपा। पूर्व सरपंच हरमीत बलजोत, एडवोकेट मोतीलाल कंदोई, सुनील कुमार,दीपक साहेवाल, संजय साहेवाल, बार संघ अध्यक्ष गुरलाल मान ने बताया कि जंगली जानवर ने गांव इंद्रपुरा में कई भेडों और बकरियों को नुकसान पहुंचाया। इससे भेड़पालक का आर्थिक नुकसान हुआ है।

खबरें और भी हैं...