पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • शिवरात्रि को शिवालयों में उमड़े श्रद्धालु, दूध बेलपत्र और आक धतूरा चढ़ा किया अभिषेक

शिवरात्रि को शिवालयों में उमड़े श्रद्धालु, दूध बेलपत्र और आक-धतूरा चढ़ा किया अभिषेक

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
श्रावणीशिवरात्रि पर शुक्रवार को भोले के भक्तों का उत्साह देखते ही बनता था। अलसुबह ही श्रद्धालु जल, दूध, बेलपत्र आक-धतूरा आदि लेकर शिवालयों में पहुंचे और अभिषक कर सुख समृद्धि की कामना की। शिवालयों में दिनभर भोले बाबा के भजन गूंजे जिन पर श्रद्धालु झूमकर नाचे। देर रात तक श्रद्धालुओं की कतारें लगी रहीं। रात में अनेक जगहों पर जागरण लगे और भगवान के गुणों का बखान किया गया।

सादुलशहर|शिवायुवा समिति द्वारा भगत सिंह चौक के समीप स्थित श्री शिव मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना कार्यक्रम करवाया गया। समिति की ओर से शिव-पार्वती की शोभायात्रा निकाली गई। देवी-देवताओं की सचेतन झांकियां सजीं। देवांशु जाट, पालिका नेता प्रतिपक्ष मेहताब गुरिया, लालचंद, संदीप, गगनदीप, चिंटू, मोनू शर्मा आदि ने सेवाएं दीं।

श्रीकरणपुर|शिवरात्रिपर्व पर शिवालयों में शिवभक्तों की भीड़ रही। परमानंद दूधाधारी कुटिया, अनुराग कला निकेतन शिवालय, शुक्रदास की कुटिया, सनातन धर्म मंदिर कुटिया, शमशान घाट भूतनाथ मंदिर गोशाला में शिवलिंग पर बेलपत्र, दूध, दही, फल, धूप-दीप से पूजा अर्चना कर अपने भगवान को रिझाया। जुगला महाराज की कुटिया में जुगल महाराज ने शिव रात्रि को आठ पहर की पूजा का महत्व समझाया।

लालगढ़जाटान| गांवके प्राचीन शिव मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। एसडीएम भंवरलाल कसौटिया तहसीलदार मानसिह प्रजापत पहुंचे। भगवान का अभिषेक किया। इस दौरान मंदिर कमेटी के सुरेंद्र जलधंरा, भगवानाराम मेघवाल, कुंभाराम मेघवाल, रामचनंद्र भुरटा, दलीप सुथार, आत्माराम गोदारा, राजाराम कस्वां आदि मौजूद रहे। अन्य गणमान्य व्यक्ति मौझूद थे।

सूरतगढ़|कस्बेके शिवालयों में दिनभर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। प्राचीन सुरतेश्वर महादेव मंदिर, शिवबाड़ी, त्रिमूर्ति मंदिर, श्रीहनुमान खेजड़ी शिवालय, आदर्श कॉलोनी अग्रवाल धर्मशाला स्थिति शिवालय और चमत्कारी शिवमंदिर में विशेष धार्मिक आयोजन हुए। रात में भोलेबाबा का गुणगान हुआ। श्रद्धालुओं ने चार पहर की पूजा कराई और मन्नतें मांगीं।

हनुमानगढ़|टाउनस्थित श्री अरोड़वंश धर्मशाला में आयोजित तीन दिवसीय श्री शिवगाथा में दिव्य ज्योति जागृति संस्थान की साध्वियों ने कथा वाचन किया। श्री अरोड़वंश सभा के अध्यक्ष सतीश कटारीया, सचिव जसपाल छाबड़ा, कोषाध्यक्ष कश्मीरीलाल मिढ़ा, प्रचार मंत्री हरविंद्रसिंह नागपाल, सतीश छाबड़ा, मुरारीलाल सचदेवा, रमेश गुंबर, अनिल धुडिय़ा ने दीप प्रज्जवलन किया। कथा वाचक साध्वी मीनाक्षी भारती ने कहा कि वास्तव में हमारी भक्ति का फल तो स्वयं भगवान शिव ही हैं। शिव मिल जाएं तो समझो सभी पूजापाठ सफल हो गया। भोलेनाथ को पाने का मार्ग एक परम गुरू की शरण ही है।

खबरें और भी हैं...