--Advertisement--

भगवान महावीर को चढ़ाया निर्वाण लाडू

जयपुर| जैनधर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का 2542वां निर्वाण महोत्सव बुधवार को धूम-धाम से मनाया गया। शहरभर...

Dainik Bhaskar

Nov 14, 2015, 03:15 AM IST
जयपुर| जैनधर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का 2542वां निर्वाण महोत्सव बुधवार को धूम-धाम से मनाया गया। शहरभर के दिगंबर जैन मन्दिरों में मंत्रोच्चार के साथ जयकारों के बीच सामूहिक निर्वाण लाडू चढ़ाया गया। इससे पूर्व भगवान महावीर की अष्टद्रव्य से पूजा-अर्चना, सामयिक, स्तुति पाठ पश्चात निर्वाण पूजा, निर्वाण काण्ड के बाद निर्वाण लाडू चढ़ाया गया। भगवान महावीर की महाआरती के साथ यह कार्यक्रम संपन्न हुआ।

अखिल भारतवर्षीय दिगंबर जैन परिषद् के प्रदेश मंत्री विनोद जैन कोटखावदा ने बताया कि टोंक रोड़ सूर्यनगर तारों की कंूट स्थित शांतिनाथ दिगंबर जैन मन्दिर में सुबह 7.30 बजे, दुर्गापुरा के चन्द्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर में उपाध्याय उर्जयंत सागर जी महाराज के सानिध्य में सुबह 8.15 बजे, गोपाल जी का रास्ता स्थित श्री दिगंबर जैन मन्दिर, महावीर स्वामी (कालाडेरा) में मूल नायक प्रतिमा के सामने सुबह 6.30 बजे एवं बाहर सामूहिक रूप से सुबह 8.30 बजे, आचार्यों का रास्ता के दिगंबर जैन मंदिर सिरमोरियान में नीचे सुबह 7.15 बजे, मनिहारों का रास्ता के दिगंबर जैन मंदिर बड़े दीवानजी में सुबह 7:30 बजे, दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा में सुबह 9.00 बजे,भट्टारक जी की नसियां में मुनि प्रमाण सागर जी, मुनि विराट सागर जी महाराज के सानिध्य में राजस्थान जैन सभा की ओर से प्रातः 9.30 बजे, दिगंबर जैन मन्दिर जग्गा की बावड़ी में सुबह 9 बजे पार्श्वनाथ दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र चूलगिरी में सुबह 9.30 बजे, मीरा मार्ग अग्रवाल फार्म में आचार्य वसुनन्दीजी महाराज, वरुण पथ के आचार्य विशदसागर महाराज, अंबाबाड़ी में आचार्य शशांक सागर जी, बरकत नगर में उपाध्याय नवीन सागरजी, महावीर नगर में आर्यिका विशाश्री माताजी, जनकपुरी में आर्यिका गौरवमती सिद्धार्थ नगर में आर्यिका विज्ञाश्री माताजी, कीर्तिनगर में मुनि वृषभसेन अमित सेन, टोंक फाटक में मुनि वैराग्य सागरजी सहज सागरजी के सानिध्य में महोत्सव मनाया गया।

त्रिवेणी नगर पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में निर्वाण महोत्सव के तहत दीपावली को सुबह अष्टद्रव्य से पूजा हुई और निर्वाण का लडडू चढ़ाया गया। शुक्रवार सुबह आचार्य वसुनंदजी महाराज ससंघ मंदिर में पधारे। यहां मंदिर पदाधिकारयों में उनका पाद प्रक्षालन कर आरती उतारी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..