पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अंदर की कहानी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
छोटे मोदी अब बड़े कप्तान

जानिए लंदनसे राजस्थान तक चली क्रिकेट की सियासत और जवाब मांगते बड़ेसवाल

भास्कर ने खोला रुचिर मोदी के अध्यक्ष बनने का राज, 20 दिन बाद आरसीए ने भी कबूला

भास्कर ने सोमवार के अंक में खुलासा कर दिया था कि ललित मोदी के बेटे रुचिर अलवर से अध्यक्ष बन गए हैं, लेकिन आरसीए छिपा रहा है।

खेल मंत्री बोले- 21 दिन सरकार को नहीं दी रुचिर के अध्यक्ष बनने की जानकारी, अब जांच होगी -खेल पेज

रुचिर ने राजगढ़ में खरीदा है 3.91 लाख में प्लाट :रुचिर मोदी ने अलवर जिला क्रिकेट संघ में अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए राजगढ़ के कारोठ में 177 वर्ग गज का प्लाट 3.91 लाख में खरीदा है।

यह प्लाट पृथ्वीपुरा के बाबूलाल शर्मा से 3 लाख 91 हजार रुपए में खरीदा गया। इसकी रजिस्ट्री 20 जुलाई 2016 को राजगढ़ तहसील में हुई। रुचिर कुमार मोदी ने प्लाट खरीद में खुद का पता आनंदा 41 गांधीग्राम, जुहू मुंबई लिखवाया है। इसका खसरा नंबर 88 है।

रुचिर ने कहा इनवेस्टमेंट के लिए खरीद रहा हूं प्लाट:

नायब तहसीलदार रामप्रताप को पता लगा कि वह ललित मोदी का बेटा है। राजगढ़ में प्लाट खरीदने के उद्देश्य के बारे में पूछा जब पूछा तो रुचिर कुमार मोदी उनके साथ आए लोगों ने नायब तहसीलदार को कहा कि इनवेस्टमेंट के लिए प्लाट खरीदा है। हालांकि यह बात उनके गले नहीं उतरी। अलवर जिला क्रिकेट संघ के एंट्री के लिए प्लाट खरीदने की भनक किसी को नहीं लगने दी।

क्या नागौर जिला क्रिकेट संघ से इस्तीफा देंगे ललित मोदी?

नहीं,इसके चांस कम हैं। ललित मोदी राजस्थान की क्रिकेट सियासत में खुद भी शामिल रहेंगे और बेटे के जरिए अपनी बादशाहत भी कायम रखेंगे।

क्याआरसीए अध्यक्ष पद छोड़ेंगे, बीसीसीआई से सुलझेगा विवाद?

कुछहद तक ऐसा होना संभव है। इसके पीछे बड़ी वजह यह है कि आरसीए अध्यक्ष पद छोड़ते ही बीसीसीआई आरसीए से पाबंदी हटा देगा। ललित मोदी बेटे को आरसीए अध्यक्ष बनाकर अपना दखल भी बरकरार रखेंगे।

क्यासरकार ने रुचिर को अध्यक्ष बनाने में मदद की?

बिनासरकार की जानकारी के इतना बड़ा फैसला संभव नहीं है। हालांकि खेल मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर ने कहा-यह कंट्रोवर्शियल मामला है, सरकार इसमें पड़कर बदनाम नहीं होना चाहती।

अलवरही क्यों चुना, आरसीए का नया चेहरा कैसा?

आरसीएमें 15 नवंबर तक चुनाव कराना प्रस्तावित है। ऐसे में अलवर में ही चुनाव ड्‌यू थे। अगर 15 नवंबर को आरसीए में चुनाव होते हैं तो रुचिर अध्यक्ष बनेंगे। मौजूदा कार्यकारिणी में कार्यकारी सचिव आर.एस. नांदू सचिव पद पर अपना दावा पेश कर सकते हैं।

स्पोर्ट्स रिपोर्टर | जयपुर/अलवर

अलवरजिला क्रिकेट संघ में आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के बेटे रुचिर मोदी की आरसीए ने गुपचुप ताजपोशी करा ही दी। इसी के साथ राजस्थान क्रिकेट में ललित मोदी के बाद अब उनके बेटे को सियासत सौंपने की पिच तैयार हो गई। दिलचस्प यह है कि आरसीए ने 20 दिनों तक इस राज को छुपाए रखा लेकिन सोमवार के अंक में भास्कर ने यह खुलासा कर दिया कि 22 अगस्त को हुए चुनाव में अलवर के रास्ते िक्रकेट में रुचिर मोदी की एंट्री हो गई है। काबिलेगौर है कि सुबह खबर का खुलासा होते ही आरसीए को आनन-फानन में घोषणा करनी ही पड़ी कि अलवर से रुचिर मोदी अध्यक्ष बने हैं।

उल्लेखनीय है कि आरसीए के इस कदम से बीसीसीआई भी सकते में है। उसे उम्मीद नहीं थी ललित मोदी ऐसी गुगली फेंकेंगे। ललित मोदी के आरसीए अध्यक्ष बनने के बाद से ही बीसीसीआई ने आरसीए को निलंबित किया हुआ है। अब जब ललित मोदी ने अपने बेटे की क्रिकेट में एंट्री करा दी है तो मोदी अब आरसीए अध्यक्ष पद से इस्तीफा देंगे और नवंबर में अपने बेटे रुचिर को अध्यक्ष बनवा देंगे। इस कदम के बाद आरसीए और बीसीसीआई के बीच चल रह विवाद खत्म हो जाएगा, क्योंकि बीसीसीआई को ललित मोदी से दिक्क्त है उनके बेटे से नहीं। मोदी ने जिस तरह गोपनीय तरीके से अलवर के रास्ते बेटे की एंट्री कराई वह चर्चा में बना हुआ है। खेल मंत्री गजेंद्र सिंह भी स्वीकार कर रहे हंै कि उनकाे इसकी जानकारी नहीं है। दूसरी ओर इस पूरे खेल पर बीसीसीई ने चुप्पी साधी हुई है। शेष| पेज 6



जाहिरहै कि आने वाले समय में कुछ और घमासान होंगे।



गौरतलब है कि अलवर जिला क्रिकेट संघ के चुनाव 22 अगस्त को हुए और परिणाम तुरंत बाद जारी करना था, लेकिन पदाधिकारियों की लिस्ट पर साइन करने वाले और चुनाव में शामिल अफसर रविवार देर शाम तक यही कहते रहे कि उन्हें पता ही नहीं है। वे 20 दिन तक इसे छुपाए रहे।

अब बोले-रुचिर का स्वागत है

रुचिर चाहेंगे तो आरसीए में उनका स्वागत है?

शनिवार को रुचिर के मसले पर चुप्पी साधने वाले आरसीए सचिव सुमेंद्र तिवारी ने अब कहा कि यदि वे आरसीए में आना चाहेंगे तो उनका स्वागत है। हालांकि अभी तक ऐसी कोई योजना नहीं है। सभी प्रक्रिया पूरी करने के बाद ही उन्हें अलवर जिला क्रिकेट संघ का निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया था। आरसीए के कोषाध्यक्ष और अलवर जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष पवन गोयल से जब पूछा गया कि क्या अब आरसीए 15 नवंबर तक अपने चुनाव करा लेगा तो उनका सीधा जवाब था कि अभी हम 21 सितंबर होने वाले बीसीसीआई की मीटिंग तक इंतजार करेंगे। इसमें क्या निर्णय होता है इसके बाद ही आरसीए चुनाव के बारे में कोई निर्णय लेंगे।

3 माह से चल रही थी तैयारी, दुबई में मोदी ने तैयार किया रोडमैप

रुचिरइस साल 20 जुलाई को अचानक आरसीए के दफ्तर पहुंचे थे। तभी से उनके राजस्थान की क्रिकेट सिसायत में सक्रिय होने की अटकलें शुरू हो गई थीं। हालांकि, उस समय सभी ने यह कहा था कि रुचिर यूं ही दफ्तर में गए। इसके बाद ललित मोदी ने हाल ही दुबई में एक मीटिंग बुलाई। इस मीटिंग में भी रुचिर को राजस्थान क्रिकेट की सियासत सौंपने की जमीन तैयार की गई। मौजूदा समय में संख्या बल में भी मोदी गुट हावी है। यही कारण था कि आमीन पठान गुट को समझौता करते हुए हाथ खींचने पड़े थे और सुप्रीम कोर्ट की रिटायर्ड जज सुधा मिश्रा ने ललित मोदी को सत्तासीन करने का फैसला दिया था और कोर्ट को आरसीए के ताले खोलने पड़े थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें