चांदी में ‌~500 का सुधार

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
र|-आभूषण निर्यात 10% बढ़ा

नई दिल्ली | यूरोपऔर अमेरिका जैसे परंपरागत बाजारों में मांग बढ़ने के चलते मौजूदा वित्त वर्ष में अप्रैल से नवंबर के दौरान देश से र| एवं आभूषण निर्यात 10% बढ़कर 23.5 अरब डॉलर पर पहुंच गया। र| एवं आभूषण निर्यात संवर्धन परिषद (जीजेईपीसी) के अनुसार देश के प्रमुख निर्यात बाजारों में शामिल अमरीका और यूरोप में मांग बढ़ने से निर्यात में सुधार हुअा है।



देश के कुल निर्यात में र| एवं आभूषणों का हिस्सा 14% है। जीजेईपीसी के मुताबिक अप्रैल-नवंबर की अवधि में निर्यात बढ़ने की मुख्य वजह कट और पॉलिश्ड हीरो के निर्यात में बढ़ोतरी है। इनका निर्यात समीक्षा अवधि में 15.4 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जो एक साल पहले समान अवधि में 13.7 अरब डॉलर था। चांदी के आभूषणों का निर्यात 16.3% बढ़कर 2.4 अरब डॉलर रहा।



एक अधिकारी ने कहा कि अमरीका और यूरोप जैसे बाजारों में मांग बढ़ने से निर्यात बढ़ रहा है। हालांकि गोल्ड मैडेलियन और सिक्कों का निर्यात 5.37% घटकर 3.48 अरब डॉलर रह गया।

जयपुर सर्राफा बाजार

चांदी(999) 39,800, चांदी रिफाइनरी 39,300 रु. किलो। चांदी कलदार 68,000 रु. प्रति सैकड़ा। सोना स्टैंडर्ड 27,700 रु., सोना जेवराती 26,400 रु. तथा वापसी 25,500 रु. प्रति 10 ग्राम।

जयपुर | ग्लोबलतेजी से जयपुर सर्राफा बाजार में चांदी में 500 रु/किग्रा का सुधार रहा। सोना स्टैंडर्ड 22 कैरेट जेवराती सोने के भावों में बदलाव नहीं हुआ।



उधर, अमेरिकी वायदा एक्सचेंज कॉमेक्स में फरवरी डिलीवरी सोना 0.30% बढ़कर 1,135.50 डॉलर तथा मार्च डिलीवरी चांदी 0.19% की तेजी से 16.10 डॉलर प्रति औंस हो गई।



विशेषज्ञों के मुताबिक पिछले दिनों बिकवाली दबाव के बाद तकनीकी सुधार के दम पर ग्लोबल बाजार में सोने में बढ़त देखने को मिली है। इस वजह से चांदी की खरीदारी भी बढ़ी है।





25 दिसंबर से क्रिसमस अवकाश शुरू होने के चलते दुनियाभर के बाजारों में एक सप्ताह कारोबार कमजोर रहेगा। यह देखते हुए अगले दो दिन सोने में सुधार देखने को मिल सकता है। वहीं, ग्लोबल बाजार में आई तेजी की वजह से घरेलू बाजार में भी चांदी के भाव सुधर गए। हालांकि सोने की कीमतों में बदलाव देखने को नहीं मिला।

खबरें और भी हैं...