• Hindi News
  • National
  • रेलवे में केटरिंग सफाई में गड़बड़ी पर अधिकतम जुर्माना अब ~1 लाख तक

रेलवे में केटरिंग-सफाई में गड़बड़ी पर अधिकतम जुर्माना अब ~1 लाख तक

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर | रेलवेअब खानपान में गड़बड़ी मिलने पर जुर्माने के रूप में 1 हजार से लेकर एक लाख रुपए तक वसूलेगी। इस तरह रेलवे ने अधिकतम जुर्माने में 80 हजार रुपए तक की बढ़ोतरी कर दी है। अब तक अधिकतम जुर्माना 20 हजार रुपए लिया जाता रहा है। इस वजह से कैटरिंग कांट्रेक्टर, वेंडर, साफ-सफाई करने वाली प्राइवेट फर्म आसानी से जुर्माना चुका देती थीं। इसी को देखते हुए अधिकतम जुर्माने में बढ़ोतरी कर दी गई है। जयपुर रेल मंडल में प्रति वर्ष लगभग 100 से ज्यादा और जोन में लगभग 500 तक ऐसे मामले आते हैं। जो कैटरिंग से लेकर स्टेशनों की साफ-सफाई तक के होते हैं। इसके बाद भी संबंधितों पर वह कार्रवाई या जुर्माना नहीं हो पाता। जिसकी वास्तविक दरकार होती है। ऐसे ही हालात देशभर के विभिन्न 65 रेल मंडलों जोन के भी हैं। इसी तरह के हालात को देखते हुए रेलवे ने जुर्माने की राशि में यह इजाफा किया है। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जुर्माना तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।

पांचलाख तक हो सकता है जुर्माना

रेलवेके एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि यदि जनवरी तक हालात में सुधार हो गया तो जुर्माना वर्तमान की तरह ही रहेगा। यदि वेंडर, कैटरिंग कांट्रेक्टरों ने इसके बाद भी खान-पान के सामान में गड़बड़ी की तो जुर्माने की राशि को पांच लाख रुपए तक कर दिया जाएगा। हालांकि यह जुर्माना कम से कम एक करोड़ रुपए का टर्न ओवर करने वाले कांट्रेक्टरों पर ही लगाया जा सकेगा।

तीनबार जुर्माने के बाद कैंसिलेशन

इसीतरह लगातार तीन बार जुर्माना होने के बाद भी यदि किसी कांट्रेक्टर ने गलती की तो उसका कांट्रेक्ट कैंसिल करने का कदम भी रेलवे उठा सकेगा। अब तक रेल अधिकारी ऐसे वेंडरों कांट्रेक्टर पर जुर्माना कर ही इतिश्री कर लेते हैं। रेलवे बोर्ड के नए चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने इस मामले में भी सख्ती बरतना शुरू कर दिया है।

खबरें और भी हैं...