• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • News
  • संस्कृत से ही संस्कृति और देश का उत्थान : चतुर्वेदी
--Advertisement--

संस्कृत से ही संस्कृति और देश का उत्थान : चतुर्वेदी

News - सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने किया पुरस्कृत कार्यालयसंवाददाता | जयपुर ‘संस्कृतका उत्थान ही भारत...

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2017, 05:00 AM IST
संस्कृत से ही संस्कृति और देश का उत्थान : चतुर्वेदी
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने किया पुरस्कृत

कार्यालयसंवाददाता | जयपुर

‘संस्कृतका उत्थान ही भारत एवं भारतीयता का सर्वोच्च उत्थान सिद्ध होगा। देव भूमि उत्तराखंड की धरा से उठा यह पावन संकल्प राष्ट्र को एक नवीन ऊर्जा प्रदान करेगा।’ ये उद्गार राजस्थान संस्कृत अकादमी, जयपुर की ओर से उत्तराखंड के हरिद्वार में हुए पुरस्कार-सम्मान समारोह में राजस्थान के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री अरुण चतुर्वेदी ने व्यक्त किए।

अकादमी ने हरिद्वार नागरिक मंच की ओर से हुए ‘गंगा महोत्सव’ के दौरान पुरस्कार-सम्मान समारोह में अकादमी का सर्वोच्च अखिल भारतीय माघ पुरस्कार 2016-17 एवं 2017-18 के लिए लाल बहादुर शास्त्री संस्कृत विद्यापीठ, नई दिल्ली के कुलपति प्रो. रमेश कुमार पांडे एवं संपूर्णानंद संस्कृत महाविद्यालय, बनारस के पूर्व प्रोफेसर संकायाध्यक्ष प्रो. शिवजी उपाध्याय को प्रदान किया गया।

‘श्री विद्या साधना’ ग्रंथ और संस्कृत पत्रिका ‘स्वर मंगला’ के संयुक्तांक का विमोचन

वैदिकमंगलाचरण से शुरू हुए समारोह में ज.रा.रा.सं.विश्वविद्यालय के श्रेष्ठ विद्वान पं. राजधर मिश्र द्वारा किया गया। समारोह में राजस्थान के संस्कृत महाकवि पं. श्रीराम दवे रचित ‘श्री विद्या साधना’ नामक ग्रंथ का विमोचन किया गया। अकादमी निदेशक डाॅ. जे.एन. विजय ने समस्त महानुभावों का स्वागत करते हुए समारोह की रूपरेखा रखी। राजस्थान से साध्वी प्रीति प्रियंवदा भी मौजूद रहीं। समारोह के तहत ही अकादमी द्वारा प्रकाशित त्रैमासिक संस्कृत पत्रिका ‘स्वर मंगला’ के संयुक्तांक का भी विमोचन भी संपन्न हुआ। केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा के निदेशक प्रो. नंदकिशोर पांडे ने बताया कि संस्कृत एवं हिंदी के लिए संस्थान द्वारा अनेक सरलीकृत नवीन अभ्यास पुस्तिकाएं तैयार की गई हैं, जो देश के विद्यार्थियों को संस्कृत समझने के लिए अति उपयोगी रहेगी।

समारोहमें ये विभूतियां हुईं सम्मानित

समारोहमें डाॅ. हरिशंकर वेदांती, योगेश्वर शर्मा, जितेन्द्र व्यास, डाॅ. कपिल गौतम, प्रभावती चौधरी, सुनीता शर्मा, गजानन मिश्र, रामकृष्ण मिश्र, महेन्द्र मिश्र,जुगल किशोर व्यास, धनंजय श्रीपाद डोंगरे, जीवेश्वर मिश्र, पं. सुरेंद्र शर्मा, सुनीत जोशी, महेश शर्मा, राजधर मिश्र और गंगाधर पाठक आदि विभूतियों को भी सम्मानित किया गया।

हरिद्वार में राजस्थान संस्कृत अकादमी के पुरस्कार वितरण समारोह में प्रदेश की विभूतियों को पुरस्कृत करते प्रदेशा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. अरुण चतुर्वेदी अन्य अतिथिगण।

X
संस्कृत से ही संस्कृति और देश का उत्थान : चतुर्वेदी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..