विज्ञापन

कभी पैसे इकट्ठे कर लगाते थे गांव में बल्ब, अफसर बने तो बना दिया स्मार्ट विलेज / कभी पैसे इकट्ठे कर लगाते थे गांव में बल्ब, अफसर बने तो बना दिया स्मार्ट विलेज

ज्योति लवानिया

May 26, 2017, 06:45 AM IST

स्कूल में खुले आसमान में पढ़ने के दौरान बारिश व गर्मी से बचाव के लिए अपने व अन्य बच्चों के लिए पैसे एकत्रित कर छप्पर डलवाता था।

धौलपुर.सोच बदलो, गांव बदलो अभियान के तहत स्मार्ट विलेज धनौरा गांव में की गई चित्रकारी। इनसेट में डॉ. सत्यपाल मीणा। धौलपुर.सोच बदलो, गांव बदलो अभियान के तहत स्मार्ट विलेज धनौरा गांव में की गई चित्रकारी। इनसेट में डॉ. सत्यपाल मीणा।
  • comment
जोधपुर/धौलपुर. सत्यपाल जब सातवीं में पढ़ता था तब गांव में अंधेरा रहने पर बच्चों के साथ पैसे एकत्रित कर सार्वजनिक स्थानों पर बल्ब लगाकर अंधेरा मिटाता था। स्कूल में खुले आसमान में पढ़ने के दौरान बारिश व गर्मी से बचाव के लिए अपने व अन्य बच्चों के लिए पैसे एकत्रित कर छप्पर डलवाता था। आज उसी सत्यपाल की गांव को स्मार्ट बनाने की सोच काफी बड़ा रूप ले चुकी है। डॉ. सत्यपाल मीणा अब इंदौर में आयकर विभाग में सहायक आयुक्त है। वे अपने पैतृक गांव सहित अन्य राज्यों में गांवों की सूरत बदलने के लिए सोच बदलो गांव बदलो यात्रा पर निकल गए हैं।
डॉ. सत्यपाल की अपने छोटे से धनौरा गांव में सुविधाओं को लेकर चिंतित होने का दर्द बचपन से ही था। वहीं, वह समाजसेवा में भी आगे रहते थे। जिसके लिए उन्होंने गांव में जन चेतना की अलख जगाई और अपने साथ दोस्त जो वर्तमान में बाड़ी में हिंदी के व्याख्याता प्रेम रावत व हैडमास्टर रहे लाखन सिंह पद पर हैं, को लेकर गांव में कई काम करवाए।
डॉ. सत्यपाल की समझाइश पर ग्रामीणों ने गौरव पथ के लिए अपने पक्के अतिक्रमण बिना किसी विवाद के तोड़ दिए।
गांवों बदले तो भारत का परिदृश्य ही बदल जाएगा
ग्रामीण विकास बिना सामाजिक जनचेतना और जनभागीदारी के संभव नहीं है। यदि सरकारी प्रयासों को जनता का समर्थन व सहयोग मिल जाता है तो ग्रामीण भारत का परिदृश्य ही बदल जाएगा। इसलिए सामाजिक जनचेतना, जनभागीदारी और प्रशासन के साथ सहयोग ग्रामीण विकास का मूल आधार है। हमारा मकसद सभी जाति के लोगों को एक जाजम पर बिठाकर गांव के विकास की बात करना है। समाज के बुजुर्गों, प्रबुद्धजनों, सरकारी कर्मचारियों, व्यापारियों, महिलाओं और युवाओं की भागीदारी तय की और इस क्षेत्र के बड़े-बड़े गांवों में कुशल कॉर्डिनेटर्स का चयन करके आम जनसभाओं का आयोजन किया। डॉ. सत्यपाल मीणा, सहायक आयकर आयुक्त, इंदौर (धनौरा गांव उनका पैतृक गांव)

X
धौलपुर.सोच बदलो, गांव बदलो अभियान के तहत स्मार्ट विलेज धनौरा गांव में की गई चित्रकारी। इनसेट में डॉ. सत्यपाल मीणा।धौलपुर.सोच बदलो, गांव बदलो अभियान के तहत स्मार्ट विलेज धनौरा गांव में की गई चित्रकारी। इनसेट में डॉ. सत्यपाल मीणा।
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन