--Advertisement--

टीचर भर्ती नियमों में बदलाव, रीट और ग्रैजुएशन के मार्क्स के आधार पर बनेगी मेरिट

टीचर भर्ती सेकंड लेवल में मेरिट अब रीट और ग्रैजुएशन में मिले मार्क्स के आधार पर बनाई जाएगी

Dainik Bhaskar

Aug 18, 2017, 05:25 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।
जयपुर| शिक्षक भर्ती सैकंड लेवल में भर्ती के लिए वरीयता सूची अब रीट में प्राप्त अंकों और स्नातक में प्राप्त अंकों के आधार पर बनाई जाएगी। हाईकोर्ट के निर्णय में जारी निर्देशों के आधार पर इस भर्ती के लिए नियमों में संशोधन किया जा रहा है। इन संशोधन को विधि विभाग से अनुमोदन मिल गया है। नोटिफिकेशन अगले सप्ताह होने के बाद नए आवेदनों के लिए विज्ञप्ति जारी होगी। इसके लिए निदेशक प्रारंभिक शिक्षा को अथॉरिटी बनाया गया है।
- इन सूचियों के आधार पर 7500 पदों के लिए जिला परिषदें अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी करेंगी। भर्ती में रीट में प्राप्तांकों को 70% और स्नातक में प्राप्त अंकों को 30% मानते हुए मेरिट बनाई जाएगी।
- उदाहरण के लिए अगर किसी अभ्यर्थी के रीट में 70% अंक है तो उसे 49 अंक माना जाएगा। अगर स्नातक में 80% अंक है तो 24 अंक माना जाएगा। इन दोनों का जोड़ करने के बाद वरीयता सूची में शामिल किया जाएगा। इस भर्ती के लिए अलग से कोई परीक्षा नहीं होगी। इस भर्ती में आरटेट 2011 और 2012 के प्रमाण पत्र धारक अभ्यर्थी भी आवेदन कर सकेंगे।
- शिक्षा विभाग में संयुक्त सचिव (प्लानिंग) सुनील शर्मा ने बताया कि अभ्यर्थियों से आवेदन ऑनलाइन लिए जाएंगे। इन आवेदनों के साथ स्नातक की मार्क शीट की प्रति ली जाएगी। इसके आधार पर अंकों का निर्धारण और उन विषयों की जानकारी मिल सकेगी, जिसमें स्नातक किया है।
- सामाजिक ज्ञान के विषय के लिए अभ्यर्थी के पास इतिहास, अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान, समाज शास्त्र, लोक प्रशासन और दर्शन शास्त्र में से कम से कम एक विषय में स्नातक या समतुल्य होना जरूरी है। इसी प्रकार गणित और विज्ञान विषय के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को इन्हीं विषयों में स्नातक या समतुल्य होना जरूरी होगा।
X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..