• Hindi News
  • Rajasthan First Liver Transplant In Jaipur

12 घंटे में 10 सर्जन ने 20 लोगों के साथ कर दिया लिवर ट्रांसप्लांट

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर. महेंद्रगढ़ (हरियाणा) का 34 वर्षीय मनपाल नाम रोशन कर गया- खुद का भी और जयपुर का भी। उसने अंगदान कर तीन लोगों को नया जीवन तो दिया ही जयपुर को भी लिवर ट्रांसप्लांट के उस पायदान पर खड़ा कर गया, जहां अभी चुनिंदा शहर ही हैं। जयपुर के महात्मा गांधी अस्पताल में शुक्रवार रात 11 बजे से शनिवार सुबह करीब 11 बजे तक लिवर ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन चला।
सड़क हादसे में ब्रेन डैड मनपाल का लिवर हिंडौन के सोनू जैन काे लगाया गया। उसकी एक किडनी शुक्रवार को एसएमएस में, दूसरी शनिवार को महात्मा गांधी अस्पताल में मरीज राजेश को लगाई गई। मनपाल के हार्ट के दोनों वॉल्व भी जल्द ही किसी जरूरतमंद को नई जिंदगी देंगे।
10 सर्जन, 12 घंटे और कर दिया पहला लिवर ट्रांसप्लांट
जयपुर. 12 घंटे, 10 सर्जन और 20 जनों की मेडिकल टीम ने राजस्थान को शुक्रवार-शनिवार की रात पहले लिवर ट्रांसप्लांट की सौगात दी। महात्मा गांधी हॉस्पिटल में ट्रांसप्लांट को अंजाम दिया 1400 लिवर ट्रांसप्लांट कर चुके ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. गिरिराज बोरा ने। हिंडौनसिटी के सोनू जैन को लिवर लगाया गया। अगले सात दिन में लिवर ट्रांसप्लांट की सफलता तय होगी। सर्जरी टीम का दावा है कि ट्रांसप्लांट सुरक्षित रहा है। मरीज को लगाया गया लिवर बेहतर तरीके से काम करेगा। लिवर डोनेट करने वाले हरियाणा के महेंद्रगढ़ में मुलोददी गांव के मनपाल की एक किडनी एसएमएस अस्पताल में ऊषा शर्मा को लगाई गई। एक अन्य किडनी महात्मा गांधी अस्पताल में ही राजेश के ट्रांसप्लांट की गई।
हार्ट के लिए रिसिपिएंट नहीं मिला हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. एमएल स्वर्णकार ने बताया- हार्ट के लिए रिसिपिएंट (हार्ट लेने वाला मरीज) नहीं मिला। एक मरीज को हार्ट लगाए जाने की जरूरत थी लेकिन परिजनों ने सर्जरी से मना कर दिया। वे दवाओं पर निर्भर रहना चाहते थे। हार्ट के दोनों वाल्व को सुरक्षित रखे गए हैं। जैसे ही हार्ट पेशेंट (जिसे हार्ट वाल्व की जरूरत हो) मिलेंगे, उन्हें मनपाल के हार्ट वाल्व उसे लगाएं जाएंगे।
आगे की स्लाइड में पढ़िए हर माह 10 हजार तक का खर्चा।