• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • News
  • 22 की उम्र में बने थे IAS, अब नौकरी छोड़ बच्चों को देंगे फ्री में एजुकेशन
--Advertisement--

22 की उम्र में बने थे IAS, अब नौकरी छोड़ बच्चों को देंगे फ्री में एजुकेशन

22 साल की उम्र में फर्स्ट अटेम्प्ट में आईएएस अफसर बने और अब जॉब छोड़ फ्री एजुकेशन देंगे।

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2016, 01:26 AM IST
रोमन सैनी (बाएं) अनएकेडमी के को-फाउंडर गौरव मुंजाल के साथ। रोमन सैनी (बाएं) अनएकेडमी के को-फाउंडर गौरव मुंजाल के साथ।
जयपुर. रोमन सैनी 22 साल की उम्र में फर्स्ट अटेम्प्ट में यूपीएससी परीक्षा पास कर देश के सबसे यंग आईएएस अफसरों में शामिल हुए। अब जॉब छोड़कर फ्री ऑनलाइन एजुकेशन स्टार्ट-अप शुरू कर रहे हैं। जयपुर के रोमन ने 16 साल में एम्स का एन्ट्रेंस एग्जाम पास किया था।
रोमन को पीएम ऑफिस से क्यों मिला बुलावा...
- वे शायद पहले आईएएस हैं, जिन्होंने बच्चों को पढ़ाने के लिए नौकरी छोड़ी है।
- रोमन जबलपुर (मध्य प्रदेश) में असिस्टेंट कलेक्टर थे। अब पूरा समय एजुकेशन स्टार्ट-अप ‘अनएकेडमी’ को देंगे।
- उनकी इस कोशिश की तारीफ करते हुए पीएमओ ने 16 जनवरी से होने वाले स्टार्ट-अप इंडिया में उन्हें बुलाया है।

स्कूल में दोस्त के साथ मिलकर सोचा आइडिया...
- रोमन और उनके दोस्त गौरव मुंजाल एकसाथ 11वीं में ट्यूशन पढ़ने जाते थे। उसी समय उनके दिमाग में ये आइडिया आया कि हर बच्चे को अच्छी ट्यूशन क्यों नहीं मिल सकती।
- अनएकेडमी की शुरुआत 2011 में यू-ट्यूब चैनल के रूप में हुई थी। इसे रोमन के दोस्त गौरव ने बनाया था।
- उन्होंने अब तक 10 लाख से ज्यादा वीडियो जारी किए हैं।
- इससे 5 लाख से ज्यादा बच्चों को फायदा हुआ।
- अभी तक 25 एजुकेटर्स से उनके प्लैटफॉर्म से जुड़े हैं।
चार दोस्तों की पहल
- इस पहल के लिए रोमन आईएएस की नौकरी तो गौरव ऑनलाइन रियल एस्टेट कंपनी फ्लैटचैट के सीईओ का पद छोड़ रहे हैं।
- दो और दोस्तों हेमेश व सचिन गुप्ता के साथ मिलकर अनएकेडमी.इन नाम से वेब प्लैटफॉर्म लॉन्च किया है।

इस फैसले के बारे में क्या बोले रोमन
पहले मेडिकल, फिर यूपीएससी...वजह?
-डॉक्टरी के दौरान एक गांव में काम किया। हालात देख लगा कि डॉक्टर के तौर पर सब बदलना संभव नहीं। आईएएस बनने की ठानी।
एजुकेटर बनने का ख्याल कैसे आया?
- यूपीएससी के लिए कोचिंग के दौरान लगा कि फाइनेंशियली कमजोर बच्चे हों या दूर-दराज इलाकों के बच्चे, सब तक क्वालिटी एजुकेशन की समान पहुंच ही समाज को बदल सकती है।

अब आपका क्या विजन है?
- सिविल सर्विस छोड़ने का फैसला कठिन था। हमारी पहल एजुकेशन की तस्वीर बदलेगी।
ऐप बनाएगा सबको टीचर
- जल्द ही अनएकेडमी का स्मार्टफोन ऐप लॉन्च किया जाएगा, जो सबको अपना ट्यूटोरियल वीडियो बनाने में सक्षम करेगा। व्यूज़ के आधार पर ही टीचरों की लोकप्रियता भी तय होगी। वीडियो और ऐप फ्री होंगे।
आगे की स्लाइड्स में देखें रोमन सैनी की फोटोज...
किरण बेदी के साथ रोमन (बाएं) और उनके दोस्त गौरव। किरण बेदी के साथ रोमन (बाएं) और उनके दोस्त गौरव।
फरहान अख्तर के साथ रोमन। फरहान अख्तर के साथ रोमन।
अपने फ्रेंड के साथ रोमन। अपने फ्रेंड के साथ रोमन।
जयपुर के रहने वाले हैं रोमन सैनी। जयपुर के रहने वाले हैं रोमन सैनी।
X
रोमन सैनी (बाएं) अनएकेडमी के को-फाउंडर गौरव मुंजाल के साथ।रोमन सैनी (बाएं) अनएकेडमी के को-फाउंडर गौरव मुंजाल के साथ।
किरण बेदी के साथ रोमन (बाएं) और उनके दोस्त गौरव।किरण बेदी के साथ रोमन (बाएं) और उनके दोस्त गौरव।
फरहान अख्तर के साथ रोमन।फरहान अख्तर के साथ रोमन।
अपने फ्रेंड के साथ रोमन।अपने फ्रेंड के साथ रोमन।
जयपुर के रहने वाले हैं रोमन सैनी।जयपुर के रहने वाले हैं रोमन सैनी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..