दोस्ती-पैसा और रेप का आरोप, ऐसे ब्लैकमेल कर वसूली करती थीं 2 लड़कियां

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर. रेप के केस में फंंसाने की धमकी देकर अलवर के नायब तहसीलदार से सात लाख रुपए लेने वाली महिला व उसकी सहेली को अशोकनगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी महिला चंचल कंवर व उसकी सहेली प्राची चित्रकूट (राजस्थान) के सेक्टर एक में किराए पर रहती है। पुलिस ने दोनों से सात लाख रुपए बरामद कर लिए है। चंचल कंवर के सचिवालय में भी कई अफसरों से संपर्क बताए जा रहे है। पढ़ें क्या है पूरा मामला...
- जयपुर के एसीपी महेन्द्र सिंह हरसाना ने बताया कि 25 अप्रैल को तहसीलदार संदीप ने रिपोर्ट दी थी की उसकी पत्नी अंजना शेरावत वित्त भवन में तहसीलदार है और उनके बीच
केस चल रहा है।
- जो वकील संदीप का केस देख रहे हैं, वही वकील ब्लैकमेल कर पैसे लेने वाली आरोपी चंचल का भी केस लड़ रहे हैं। बता दें कि आरोपी चंचल का अपने पति के साथ विवाद चल रहा है।
- इसी के चलते संदीप व चंचल की मुलाक़ात कोर्ट में पैरवी के दौरान हुई थी। बाद में चंचल संदीप से फोन पर बात करने लगी।
- मार्च में एक दिन चंचल संदीप के घर पर आई और उसने एक सीडी देकर संदीप को उसे देखने कहा।
- इसके बाद संदीप को चंचल ब्लैकमेल करते हुए पांच लाख रुपए की मांग करने लगी और न देने पर रेप केस में फंसा देने की धमकी देने लगी।
पैसे मांगने पहुंचते थे अलग-अलग लोग
- कुछ समय बाद संदीप ने आरोपी चंचल के फोन रिसीव करना बंद कर दिए।
- ऐसे में चंचल अलग-अलग व्यक्तियों को संदीप के पास भेजकर पैसे की डिमांड करने लगी और रेप केस में फंसाने की धमकी देने लगी।
- पुलिस ने पीड़ित संदीप की रिपोर्ट पर सोमवार को वैशालीनगर से सात लाख रुपए की ब्लैकमेलिंग राशि लेते चंचल व उसकी सहेली को गिरफ्तार कर लिया।
पीड़ित को कहा- तेरी पत्नी 15 लाख दे रही है, तू 50 लाख दे तो राजीनामा करें
- संदीप ने बताया कि उसकी पत्नी अंजना ने चंचल से मिलकर साजिश रची थी।
- उसके व अंजना के बीच विवाद चल रहा है। पुलिस को संदीप ने रिकॉर्डिंग दी है।
- जिसमें चंचल ने कहा कि तेरी पत्नी तुझे फंसवाने के लिए मुझे 15 लाख रुपए दे रही है।
- अगर तू राजीनामा करना चाहता है तो तुझे 50 लाख रुपए देने पड़ेंगे।
- आरोपी चंचल पिछले तीन माह से संदीप को ब्लैकमेल कर रही थी और पैसों की डिमांड कर रही थी।
ऐसे आई पकड़ में : सूत्रों ने बताया की संदीप के पास चंचल के एक वकील ने फोन किया और चंचल से उसका राजीनामा कराने के लिए 11 लाख रुपए मांगे। पीड़ित संदीप थाने पर पहुंचा और घटनाक्रम की जानकारी पुलिस अधिकारियों को दी। इस दौरान पीड़ित संदीप के पास चंचल का फोन आया और उसने पैसे की डिमांड की तो संदीप ने कहा कि तेरा वकील 11 लाख रुपए मांग रहा है। ऐसे में चंचल ने संदीप को कहा की तू तो 7 लाख रुपए दे दे वकील को भूल जा।
रंगे हाथ पकड़ाई...
चंचल की बात को पुलिस अधिकारी भी सुन रहे थे। इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने संदीप के साथ मिलकर याेजना बनाई और चंचल को सात लाख रुपए देने भेजा। इससे पहले पुलिस ने चंचल को मिलने वाली राशि की रिपोर्ट बनाई। चंचल ने संदीप को नर्सरी सर्किल के पास बुलाया। जहां पर संदीप से चंचल ने पैसे ले लिए और अपनी सहेली प्राची को दे दिए। इस दौरान संदीप ने पुलिस को इशारा किया और दोनों को सात लाख रुपए की रिश्वत के साथ पकड़ लिया।
आगे की स्लाइड्स में देखिए पुलिस गिरफ्त में महिलाओं की फोटोज।
खबरें और भी हैं...