पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • एकल सामूहिक विवाह आयोजन

एकल सामूहिक विवाह आयोजन

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ध्वजाओं के साथ निकली पदयात्रा, लगाया अन्नकूट का भोग

ठाकुरजी ने रचाया रास, भक्तों ने किया दीपदान

जयपुर| आस्थाऔर श्रद्धा के माह कार्तिक की पूर्णिमा पर गुरुवार देव दिवाली पर शहर के मंदिरों में भगवान की रास झांकियां सजाई गई। पावन माह की पूर्णिमा को गलता में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। बड़ी संख्या में भक्तों ने स्नान कर दीपदान किया।

आराध्यदेव गोविंद देवजी मंदिर में मंगला झांकी के बाद ठाकुरजी का पंचामृत अभिषेक किया गया। महंत अंजन कुमार गोस्वामी के सानिध्य में संध्या आरती के बाद कार्तिक पूर्णिमा की विशेष झांकी सजाई गई। ठाकुरजी को सुनहरे रंग की पोशाक धारण करवाई गई। इस अवसर पर ठाकुरजी के समक्ष चांदी की चौपड़ की झांकी सजी। उधर चौड़ा रास्ता के राधा दामोदरजी मंदिर में भगवान का विशेष शृंगार किया गया। भगवान का पंचामृत अभिषेक कर फूलों से विशेष शृंगार किया गया। इसके अलावा पानों का दरीबा के सरस निकुंज बड़ी चौपड़ के लक्ष्मीनारायण बाईजी मंदिर में भी कई आयोजन हुए।

श्रद्धालुओं ने गीता गायत्री मंदिर में 2100 दीयों से किया दीपदान।

चांदपोल बाजार के खजाने वालों का रास्ता स्थित बद्रीनाथजी मंदिर से सागर रोड आमेर के बद्रीनाथजी मंदिर तक ध्वजा पदयात्रा निकाली गई। बद्रीनाथजी मंदिर पहुंचने पर पदयात्रियों ने ध्वजा अर्पण किए। इसके बाद अन्नकूट प्रसादी हुई। उधर रामगंज बाजार के कावंटियों का खुर्रा स्थित प्राचीन श्याम मंदिर में अन्नकूट महोत्सव मनाया गया।

श्रीराधा-गोविंददेवजी ने देव दिवाली पर चौसर खेला

कार्तिक पूर्णिमा पर गुरुवार को शहर में एकल सामूहिक विवाह के आयोजन हुए। अबूझ सावा होने से कई जगहों पर एकल विवाह हुए। जांगिड़ ब्राह्मण सामूहिक विवाह सेवा संस्थान की ओर से आगरा रोड पर प्रेम नगर केके पैराडाइज में सामूहिक विवाह समारोह हुआ। इसमें 8 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। वैवाहिक समिति की अध्यक्षा गायत्रीदेवी एवं महामंत्री शंकरलाल ने कार्यक्रम शुरू करने से पहले गणेश पूजन ध्वजारोहण किया। राजस्थान मेघवंश बलाई महासभा के सम्मेलन में 6 जोड़े विवाह बंधन में बंधे। इससे पहले बारात निकली, जिसे पूर्व आईपीएस आरपी सिंह ने रवाना किया।