• Hindi News
  • Bribe Cases Continue In Election 2014 Rajasthan

भ्रष्टाचार: आचार संहिता की रोक कामों पर, रिश्वतखोरी चालू है

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर. देश-प्रदेश में चौतरफा चुनावी माहौल है। प्रत्याशी एवं नेता चुनाव प्रचार में व्यस्त है। भ्रष्टाचार बड़ा मुद्दा है। चुनाव आचार संहिता के कारण विभागों में ज्यादातर कामों पर रोक है, लेकिन रिश्वत लेकर काम हो रहे हैं। रिश्वतखोरों को पकडऩे में एसीबी व्यस्त है। हर दूसरे दिन घूस लेते कोई न कोई धरा जा रहा है। आचार संहिता लगने से पहले प्रति माह औसत ट्रेप 23 से 25 किए जा रहे थे। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से अब तक 18 सरकारी कार्मिकों को काम के बदले रिश्वत लेते पकड़ा जा चुका है। उधर, सात पुराने मामलों में कोर्ट ने सजा भी सुनाई है।

रिश्वत में आड़े नहीं आई आचार संहिता

रामदयाल, सहायक विद्युत निरीक्षक, अलवर : फैक्ट्री में ट्रांसफार्मर की परमिशन जारी करने की एवज में छह हजार लेते एसीबी ने पकड़ा। रामदयाल के यहां 20.5 लाख नकद, 4.75 लाख के जेवर, 9.50 लाख बैंक में, 10.20 लाख की एफडी, 1.15 करोड़ के 4 भूखंड मिले।

राकेश चौहान, सहा, राजस्व अधिकारी, जेवीवीएनएल, बारां:
कृषि कनेक्शन का पावर लोड साढ़े सात हॉर्स पावर से पंद्रह हॉर्स पावर करने की एवज में तीस हजार की घूस मांगी। परिवादी को शाहबाद के एक होटल में बुलाया। 22 हजार रुपए लेते एसीबी ने पकड़ा।

रमेश कुमार, वरिष्ठ लिपिक, बीसीएमएचओ, खेतड़ी
ब्लॉक के डॉक्टर के सात माह के ट्यूटर एवं मोबेलिटी भत्ते के 33 हजार 600 रुपए बकाया थे। ट्यूर प्रमाणीकरण एवं बिल पास करने की एवज में तीन हजार की घूस ली। बकाया बिल पर 25 प्रतिशत कमीशन मांगा था।

वीरेंद्र यादव, आरक्षक, जवाहरनगर थाना, जयपुर : व्यवसायी को गिरफ्तारी वारंट में गिरफ्तार नहीं करने एवं जमानत का मौका देने की एवज में स्मार्ट फोन मांगा। व्यवसायी ने इस बीच जमानत करवा ली। फिर भी रिश्वत में 15 हजार मांगे और 13 हजार लेते पकड़ा गया।

दयाशंकर गुप्ता, डीटीओ, भीलवाड़ा : व्यवसायी ने 22 लाख में एक जेसीबी खरीदी। रास्ते में डीटीओ ने जेसीबी जब्त कर ली। टैक्स की 6.50 प्रतिशत राशि एक मुश्त जमा कराने का दबाव बनाया। जबकि, टैक्स एक माह में जमा करवा सकता है। पांच हजार की रिश्वत ली और पकड़ा गया।


रिश्वत का गणित
जनवरी से अब पकड़े : 80 ( प्रति माह 23 ट्रेप)
आसार संहिता लागू : 5 मार्च से 22 मई तक
अब तक कितने दिन : 38 दिन
रिश्वत खोर पकड़े : 18 आरोपी
पुराने में मामलों में सजा : 7 प्रकरण
विधानसभा चुनाव के दौरान रिश्वत
वर्ष 2013 में घूस खोर पकड़े : 362
आचार संहिता : 5 अक्टू. से 13 दिसं., 2013 तक
कितने दिन रही: 68 दिन
रिश्वतखोर पकड़े : 20 आरोपी
पुराने में मामलों सजा : 8 प्रकरण