--Advertisement--

ईसरदा बांध; चार साल में मिलेगा बीसलपुर का विकल्प, 5 जिलों मिलेगा पानी

पक्का बनाने के लिए जलदाय संसाधन विभाग ने 531 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं।

Dainik Bhaskar

Apr 28, 2015, 04:39 AM IST
ईसरदा बांध का गेट, इसके बायीं ओर से पक्के बांध का निर्माण शुरू किया जा रहा है। ईसरदा बांध का गेट, इसके बायीं ओर से पक्के बांध का निर्माण शुरू किया जा रहा है।
जयपुर. करीब सवा दो सौ साल पुराने ईसरदा बांध को जयपुर की प्यास बुझाने के लिए नए सिरे से तैयार किया जा रहा है। इसको पक्का बनाने के लिए जलदाय संसाधन विभाग ने 531 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। 10 करोड़ रुपए की पहली किश्त जारी भी हो गई है। बांध 2018-19 तक बनकर तैयार हो जाएगा। जयपुर, दौसा, सवाईमाधोपुर, टोंक और करौली को पानी मिल सकेगा।
कितना पानी : जयपुर की जरूरत से दाेगुना
जयपुर को हर साल 4 से 5 टीएमसी पानी की जरूरत होती है। एक टीएमसी पानी यानी 100 अरब लीटर पानी। जयपुर को रोज बीसलपुर से 34 से 40 करोड़ लीटर पानी सप्लाई होता है। 2021 में जयपुर की सालाना डिमांड करीब 9 टीएमसी पानी की होगी।
आगे की स्लाइड में पढ़ें बांध की खासियत
22 गांवों की जमीन कैचमेंट एरिया में आएगी। यह डायवर्जन लाइन है, नए निर्माण की तरफ ओवर फ्लो पानी नहीं घुसे, इसलिए यह बनाई गई है। 22 गांवों की जमीन कैचमेंट एरिया में आएगी। यह डायवर्जन लाइन है, नए निर्माण की तरफ ओवर फ्लो पानी नहीं घुसे, इसलिए यह बनाई गई है।
खासियत : 2031 तक की जरूरत पूरी करेगा
 
बांध में इतना पानी आ सकेगा जितनी 2031 में जयपुर को पानी की जरूरत होगी।
 
कैसे भरेगा ईसरदा
 
प्रोजेक्ट इंचार्ज सतीश जैन ने बताया कि बीसलपुर बांध में चंबल- ब्राह्मणी- बनास नदियों को जोड़कर पानी लाया जाएगा। क्षमता से अधिक आने वाला पानी ईसरदा में स्टोर होगा। करीब 100 किमी लंबाई में नदियों को जोड़ा जाएगा।
 
यह पहली बार
 
नदी जोड़ो योजना के जरिए 70 िकमी में पानी सुरंग बनाकर लाया जाएगा। ऐसा देश में पहली बार होगा।
 
जल्दी पूरा करेंगे प्रोजेक्ट
 
नदी जोड़ की 600 करोड़ की परियोजना के साथ ईसरदा के लिए अलग से 531 करोड़ रु. का प्रोजेक्ट सेंक्शन कर दिया है। -किरण माहेश्वरी, जलदाय मंत्री
 
पानी बचा सकेंगे
 
पिछले चार साल से बीसलपुर तथा ईसरदा बांध से इतना पानी व्यर्थ जा रहा है कि एक बार के पानी से ही जयपुर जैसे शहर को दो से तीन साल तक पानी पिलाया जा सकता है। ईसरदा बांध से जयपुर सहित कई शहरों के लायक पानी संग्रहित कर सकेंगे। - रवींद्र कटारा, प्रोजेक्ट इंजीनियर, बीसलपुर
X
ईसरदा बांध का गेट, इसके बायीं ओर से पक्के बांध का निर्माण शुरू किया जा रहा है।ईसरदा बांध का गेट, इसके बायीं ओर से पक्के बांध का निर्माण शुरू किया जा रहा है।
22 गांवों की जमीन कैचमेंट एरिया में आएगी। यह डायवर्जन लाइन है, नए निर्माण की तरफ ओवर फ्लो पानी नहीं घुसे, इसलिए यह बनाई गई है।22 गांवों की जमीन कैचमेंट एरिया में आएगी। यह डायवर्जन लाइन है, नए निर्माण की तरफ ओवर फ्लो पानी नहीं घुसे, इसलिए यह बनाई गई है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..