रोमांचक मैच में बाज़ी राजस्थान के हांथ लगी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर।


मेजबान राजस्थान ने धड़कनें थमा देने वाले मुकाबले में कर्नाटक की सशक्त टीम पर रोमांचक जीत दर्ज करते हुए २२ साल बाद सीनियर नेशनल वॉलीबॉल चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।


यहां एसएमएस स्टेडियम पर शनिवार देर रात खेले गए पुरुष वर्ग के मुकाबले में उसने कर्नाटक को दो सेट की पिछडऩ से उबरते हुए 20-25, 22-25, 25-22, 29-27, 16-14 से हराया। क्वार्टर फाइनल में उसका सामना रविवार को तमिलनाडु से होगा। राजस्थान ने इससे पहले १९९० में मुंबई में हुई चैंपियनशिप में क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया था। २००७ में जयपुर में हुई चैंपियनशिप में राजस्थान टीम प्ले ऑफ से आगे नहीं बढ़ सकी थी।


एक दिन में खेले दो मैच


क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के लिए राजस्थान को शनिवार को दो मुकाबले जीतने पड़े। इससे पहले प्ले ऑफ में उसने दिल्ली को करारी शिकस्त दी थी। इस जीत
के आधार पर ही उसे क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालिफाइंग मुकाबला खेलने का
हक मिला।


लवमीत-सुरेश व सावन छाए


राजस्थान की जीत में कप्तान लवमीत कटारिया, सुरेश खोईवाल, सावन व प्रदीप कुमार के चौगड्डे का महत्वपूर्ण योगदान रहा। इन चारों का समन्वय देखने लायक था। टीम के सेटर अशोक चौधरी ने
भी संभवतया अपने कॅरिअर का सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाया।


...और गूंज उठा स्टेडियम

मेजबान ने जब दो सेट गंवाए, तो टीम के प्रशंसकों के भी हौसले पस्त होने लगे। टीम जब अगले दो सेट जीतकर बराबरी पर आई, तो प्रशंसकों में नया जोश भर गया। अंतिम सेट में एक समय कर्नाटक ११-९ से आगे हो गया था, जिस कारण इनडोर हॉल में सन्नाटा पसर गया। इसके बाद लवमीत, सुरेश व सावन ने चमत्कारी खेल दिखाया और टीम को जीत दिलाई। अंतिम प्वाइंट के लिए जैसे ही राजस्थान ने ब्लॉक किया, पूरा स्टेडियम समर्थकों की नारेबाजी से
गूंज उठा।