पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अतिक्रमण हटा अधूरा, कैसे होगा विकास का काम पूरा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर. बरकत नगर बाजार की सड़क चौड़ा करने की धीमी कार्रवाई पर अब सवाल उठने लगे हैं। यहां 700 मीटर क्षेत्र में अतिक्रमए हटाए करीब 26 दिन हो चुके हैं। अब निगम अफसरों ने इसकी मॉनिटरिंग बंद कर दी है। लोगों का आरोप है कि 960 मीटर क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को 700 मीटर के बाद आखिर अधूरा क्यों छोड़ दिया गया?
हालिया स्थिति यह है कि तोड़फोड़ को पूरी तरह से भवन मालिकों के जिम्मे छोड़ दिया गया है और अफसर वहां जा ही नहीं रहे। बाजार से मलबा तक नहीं उठाया जा रहा। देरी के साथ ही पुनर्विकास कार्य भी शुरू नहीं हो पा रहा है। जानकारी के अनुसार महेश नगर फाटक से टोंक फाटक तक सड़क को 40 फीट चौड़ा करने के लिए निगम ने 30 जनवरी को कार्रवाई शुरू की थी। यहां 960 मीटर में अतिक्रमण हटाकर नए सिरे से विकास करना है। निगम की कार्रवाई शुरू होने के बाद से लोग खुद ही अतिक्रमण हटा रहे हैं, लेकिन अब निगम इस ओर झांक ही नहीं रहा।
निगम ने संसाधन भेजना बंद किया, मलबे से सड़क बाधित
निगम प्रशासन ने जब से भवन मालिकों को उनकी मर्जी के पक्के निर्माण हटाने की मोहलत दे दी है। तब से निगम अफसर कार्रवाई की मॉनिटरिंग नहीं कर रहे और स्थानीय लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। यहां मलबा तक समय पर नहीं उठाया जा रहा है। लोगों का कहना है कि निगम के अधिकारी कभी कभार ही मौका निरीक्षण के लिहाज से बाजार में आते हैं। निगम ने अपने संसाधन भी हटा लिए हैं। निगम के सुस्त रवैये के कारण अब तक हुई टूट-फूट का आधा मलबा सड़क पर पड़ा है।
260 मीटर से अतिक्रमण हटाने बाकी
बाजार में दो चौराहों तक के अतिक्रमणों को हटाया जाना बाकी है। अब भी करीब ढाई सौ मीटर में तोड़फोड़ होनी है। इसमें कई व्यावसायिक निर्माण हैं, जिन्होंने सड़क की तरफ का सेटबैक कवर कर रखा है। इस हिस्से में 35 दुकानें व 10 मकान आते हैं। दो तीन व्यावसायिक कॉम्पलेक्स 4-5 मंजिल तक बने हैं।
बिजली पोल व नाले शिफ्ट होने हैं, पेवर की नई सड़क डाली जाएगी
बाजार के दोनों तरफ का नाला शिफ्ट किया जाएगा। पुराना नाला सड़क के बीच आ रहा है। निगम यहां सीमेंट ब्लॉक के नाले डालेगा। इसकी चौड़ाई भी वर्तमान नाले जितनी रखी जाएगी। सड़क को बाधित करने वाले बिजली के पोल भी शिफ्ट होने हैं। साथ ही पेवर की सड़क डाली जाएगी। बरकत नगर बाजार पूरी तरह नए सिरे से तैयार होना है। इसमें डक्टिंग सिस्टम प्रयोग के तौर पर लगाने की भी चर्चा है।
बरकत नगर में तोड़फोड़ की शेष कार्रवाई जल्द ही करेंगे। विजिलेंस की ओर से सिविल लाइन जोन को कार्रवाई करने के लिए पत्र भेजा गया है। जोन के निर्देशन में ही कार्रवाई हो रही है।
-दिनेश शर्मा, सतर्कता निरीक्षक, निगम