पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • हज पर जाने वालों के टीके लगाए, प्रशिक्षण भी दिया झुंझुनूं जिले से 81 लोग जाएंगे इस बार हज यात्रा पर

हज पर जाने वालों के टीके लगाए, प्रशिक्षण भी दिया झुंझुनूं जिले से 81 लोग जाएंगे इस बार हज यात्रा पर

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

इसबार शेखावाटी से 342 लोगों को हज की मुकद्दस यात्रा करने का मौका मिलेगा। राजस्थान से हज की फ्लाइट 13 अगस्त को होगी। यह जानकारी शुक्रवार को यहां दरगाह हजरत कमरुद्दीन शाह में हज करने जाने वालों के प्रशिक्षण में दी गई। इस बार हज 31 अगस्त को होने की संभावना है। स्टेट हज ट्रेनर मोहम्मद अफसीन ने बताया कि सीकर से 140, चूरू से 121 झुंझुनूं से 81 लोग हज यात्रा पर जाएंगे।

स्टेट हज ट्रेनर हाजी अब्दुल राशिद खोखर ने कहा कि हज साहिबे निसाब इंसान पर फर्ज है। अल्लाह जिसे चाहे, उसे ही अपने दर पर बुलाता है। जो हज पर जाता है वह अल्लाह का मेहमान होता है। इंसान को चाहिए कि वह हज के अराकान पूरे करे। खोखर ने कहा कि दीनी तालीमात दुनियावी मालूमात होने पर हज करना आसान रहता है। स्टेट हज ट्रेनर नूर मोहम्मद पठान हाजी मोहम्मद अफसीन ने भावी यात्रियों को हवाई सफर, स्वास्थ्य एवं हज के अराकान की जानकारियां दी। हज ट्रेनर अब्दुल अजीज गौरी ने भी हज के अराकान बताए। दरगाह गद्दीनशीन एजाज नबी की सदारत में हुए कार्यक्रम का आगाज कलामे पाक की तिलावत से हुआ। इस अवसर पर पूर्व सभापति खालिद हुसैन, अशरफ अली मोयल, जिला हज कमेटी संयोजक लुकमान खां गांगियासर, उस्मान खान चैनपुरा, हाजी खुर्शीद हुसैन गोहर, खुर्शीद हुसैन खुर्शीद, अब्दुल मजीद अब्बासी, यूनुस भाटी, रफीक खान नूआं, मास्टर आजम अली, हाजी इकबाल धोबी, जाकिर हुसैन, करम इलाही ने शिरकत की। चिकित्सा विभाग की टीम ने डॉ. एसए जब्बार के नेतृत्व में हज यात्रियों के टीके लगाए। हरदिन रहेगी दो फ्लाइट | स्टेटहज ट्रेनर मोहम्मद अफसीन कासली ने बताया कि इस बार हज जाने के लिए 13 से 18 अगस्त तक प्रत्येक दिन दो फ्लाइट रहेगी। एयर इंडिया की फ्लाइट से यात्री जयपुर से जेद्दाह पहुंचेंगे। एक फ्लाइट में 420 यात्री रहेंगे।

हज का सफर महंगा होता जा रहा है। सरकार की ओर से दिए जाने वाले अनुदान में कमी, हवाई यात्रा किराए में बढ़ोतरी, बिल्डिंग किराए में बढ़ोतरी के कारण इस बार यात्रियों को पिछले साल की तुलना में करीब तीस हजार रुपए अधिक चुकाने पड़ेंगे। पिछली बार ग्रीन कैटेगरी वाले यात्रियों से 2 लाख 13 हजार रुपए लिए गए थे। इस बार 2 लाख 43 हजार 600 रुपए लिए जा रहे हैं। इसी तरह अजीजिया कैटेगरी में प्रत्येक यात्री से पिछले साल 1 लाख 88 हजार रुपए लिए गए थे। इस बार 2 लाख 13 हजार 900 रुपए लिए जा रहे हंै। हज पर जाने वालों का कहना है कि यात्रा कितनी भी महंगी क्यों हो जाए, जिसे जाना है वह जाएगा ही।

रसोईगैस की सुविधा नहीं रहेगी |हज यात्रा के दौरान हादसों को रोकने के लिए ग्रीन कैटेगरी वाले यात्रियों के लिए गैस सिलेंडर गैस चूल्हे की व्यवस्था नहीं रहेगी। चाय, दूध के लिए इलेक्ट्रोनिक हीटर उपलब्ध कराए जाएंगे।

झुंझुनूं . हज यात्रियों को टीके लगाती चिकित्सा कर्मी।

खबरें और भी हैं...