पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पिता की जमीन के हक को मोहताज बेटियां

पिता की जमीन के हक को मोहताज बेटियां

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

बाड़मेर। बाड़मेर तहसील के राजस्व गांव केरावा में चचेरे भाइयों ने अपनी दो बहनों को कागजों में मृत बताकर करीब डेढ़ करोड़ रुपए की खातेदारी जमीन हड़प ली।


यह मामला दो साल पहले उजागर होने के बावजूद कार्रवाई की धीमी रफ्तार के चलते दो बहने कोर्ट कचहरी के चक्कर काटने को मजबूर हैं। कई साल पहले सरकारी कारिंदों की मिलीभगत से 136 बीघा खातेदारी भूमि का नामांतरण अपने नाम करवा दिया था। इस मामले को लेकर रेखा कंवर ने सोमवार को बाड़मेर एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर न्याय की गुहार की । ग्राम पंचायत सूरा के राजस्व गांव केरावा में खसरा न. 25, 33 व 40 में कानसिंह पुत्र प्रेमसिंह की खातेदारी भूमि दर्ज थी। इस बीच कानसिंह की मृत्यु होने के बाद उनकी पुत्री रेखा कंवर व समदकंवर के नाम म्यूटेशन के बाद इनके नाम 136 बीघा भूमि राजस्व रिकार्ड में इन्द्राज की गई। इसके बाद दोनों बहनों की ओर से संबंधित ग्राम सेवा सहकारी समिति से फसली ऋण लिया गया। इस बीच चचेरे भाइयों ने ग्राम पंचायत के तत्कालीन सरपंच से समदकंवर व रेखा कंवर का मृत्यु प्रमाण पत्र तैयार करने के बाद हल्का पटवारी से सांठगांठ कर दोनों बहनों के नाम हटा दिए। उक्त भूमि उनके चचेरे भाई रूपसिंह पुत्र गेमरसिंह, गेनसिंह पुत्र प्रेमसिंह, पदम सिंह पुत्र प्रेमसिंह व अन्य के नाम नामांतरण कर दिया था।


यूं मिला था जमीन का हक
केरावा निवासी कानसिंह की बेटी रेखा कंवर की शादी बिजराज का तला निवासी नीम्बसिंह व समद कंवर की शादी देदूसर निवासी हीर सिंह के साथ हुई थी। दो साल पहले ही लड़कियों के पिता कानसिंह की मृत्यु हो गई। उनके बेटा नहीं होने पर उनकी खातेदारी 136 बीघा भूमि की हकदार दोनों बेटियों के नाम म्यूटेशन भर दिया गया।


एएसपी की जांच में दोषी पाए गए

पुलिस थाना रामसर में 23 अप्रैल 2011 को रेखाकंवर पुत्री स्व. कानसिंह निवासी केरावा ने मामला दर्ज करवाया कि मेरे पिता की खातेदारी कृषि भूमि खसरा न. 25,33, 40, 24, 23 में कुल 136 बीघा भूमि थी। पिता की मृत्यु पर उक्त जमीन दोनों बहनों को हिस्सा 1/2 के हिसाब से दी गई। जिसका म्यूटेशन दर्ज कर दिया। इस बीच सुरा सरपंच राणू कंवर पत्नी भलदान चारण, गेनसिंह, पदमसिंह, प्रेमसिंह राजपूत निवासी केरावा ने सरपंच व पटवारी से सांठ गांठ कर धोखाधड़ी से उक्त जमीन अपने नाम करवा दी। इस मामले की जांच एएसपी नरेन्द्रसिंह मीणा की ओर से की गई। जिसमें ये सभी लोग दोषी पाए गए।

जांच कर करेंगे दोषियों पर कार्रवाई
॥ कल ही मामले की जांच करवाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कर रिपोर्ट पेश की जाएगी।
विनितासिंह एसडीएम बाड़मेर
आरोपियों को जल्द करेंगे गिरफ्तार
॥ इस मामले की जांच की गई है। जिसमें सरपंच, पटवारी व चचेरे भाई दोषी पाए गए। तीन जनों को हाईकोर्ट से जमानत मिली है। शेष आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।
नरेन्द्रसिंह मीणा, एएसपी