• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • संस्कृत दुनिया की प्राचीन भाषा 45 देशों में बोली जा रही: शर्मा
--Advertisement--

संस्कृत दुनिया की प्राचीन भाषा 45 देशों में बोली जा रही: शर्मा

News - बाप | संस्कृतभारती जोधपुर प्रांत के द्वारा आयोजित जोधपुर विभाग का भाषा बोधन वर्ग आवासीय शीतकालीन शिविर का...

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2016, 04:35 AM IST
संस्कृत दुनिया की प्राचीन भाषा 45 देशों में बोली जा रही: शर्मा
बाप | संस्कृतभारती जोधपुर प्रांत के द्वारा आयोजित जोधपुर विभाग का भाषा बोधन वर्ग आवासीय शीतकालीन शिविर का शुक्रवार को समापन हो गया। मुख्य अतिथि समाजसेवी मगसिंह भाटी थे, जबकि अध्यक्षता पूर्व सरपंच किशनलाल पालीवाल ने की। कार्यक्रम संचालन से लेकर शिविरार्थियों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम सभी संस्कृत माध्यम से था। शिविरार्थियों ने संस्कृत माध्यम से नृत्य गीत, नाटक, संवाद, अनुभव कथन आदि प्रस्तुत किए। संस्कृत माध्यम से प्रस्तुत कार्यक्रम की क्षेत्रवासियों ने सराहना की। मुख्य वक्ता संस्कृत भारती के सह प्रांत मंत्री लीलाधर शर्मा ने कहा कि संस्कृत भाषा विश्व की सबसे प्राचीनतम भाषा है। संस्कृत भाषा ही समस्त भाषाओं की जननी है। संस्कृत से ही भारतीय संस्कृति परिलक्षित होती है। संस्कृत भारती समस्त भारतवर्ष तथा विश्व के लगभग 45 देशों में संस्कृत को बोलचाल की भाषा बनाने के लिए पिछले तीन दशकों से प्रयासरत है। संस्कृत भारती का एक ही लक्ष्य है सर्व मेव संस्कृतम। शिक्षण प्रमुख लीलाधर कुमावत ने संस्कृत भाषा के रक्षण तथा व्यवहार में प्रयोग करने का आह्वान किया। मुख्य अतिथि भाटी ने संस्कृत भारती के प्रयासों की सराहना की। विकास अधिकारी डॉ. प्रहलादराम डूडी कार्यक्रम अध्यक्ष पालीवाल ने सभी शिविरार्थियों को संस्कृत को व्यवहारिक भाषा बनाने के लिए शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर फलौदी तहसील संयोजक एवं भाषा बोधन वर्ग संयोजक चेतनप्रकाश पालीवाल, तहसील बाप संयोजक डूंगरसिंह राजपुरोहित, अनिल गोपा, बाबूलाल पालीवाल, ऊंकारलाल पालीवाल सहित कई लोग उपस्थित थे।

बाप. कार्यक्रममें उपस्थित शिविरार्थी और मंच पर आसीन अतिथि।

X
संस्कृत दुनिया की प्राचीन भाषा 45 देशों में बोली जा रही: शर्मा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..