• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • भास्कर श्रीराम हॉस्पिटल का निशुल्क चिकित्सा शिविर आज से

भास्कर श्रीराम हॉस्पिटल का निशुल्क चिकित्सा शिविर आज से

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दैनिकभास्कर श्रीराम हॉस्पिटल के संयुक्त तत्वाधान में मोटापा डायबिटीज सर्जरी के बारे में निशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर मंगलवार से प्रारंभ होगा। 5 फरवरी तक श्रीराम हॉस्पिटल की दोनों शाखाओं में होने वाले शिविर में श्रीराम हॉस्पिटल के डॉक्टर्स शल्य चिकित्सा के क्षेत्र मे हो रही नवीन तकनीकों द्वारा मोटापा कम करने के बारे में परामर्श देंगे। डॉ. सुनील चांडक ने बेरियाट्रिक सर्जरी के बारे में बताया कि भारत में पिछले 10 सालों से मोटापे के स्तर में करीब 35 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। मोटापा होने के कारण विभिन्न बीमारियां होती हैं। डायबिटीज, रक्तचाप, दिल की बीमारी, सांस लेने में परेशानी, जोड़ों में दर्द आदि होने लगता है। शिविर में डॉ. चांडक डॉ. दिवाकर बंसल सेवाएं देंगे। उल्लेखनीय है कि श्रीराम हॉस्पिटल में अत्याधुनिक मशीनों द्वारा बेरियाट्रिक सर्जरी की जाती है, अब तक यहां 1000 से ज्यादा सफल सर्जरी करके मरीजों का मोटापा कम किया जा चुका है। बेरियाट्रिक सर्जरी के क्षेत्र में श्रीराम हॉस्पिटल पश्चिमी राजस्थान का एकमात्र हॉस्पिटल है। चांडक ने बताया कि मोटापा सर्जरी की नवीनतम विधियों में बैलून विधि को भी काफी सराहा। इस विधि के दौरान मरीज के पेट में एक प्लास्टिक का गुब्बारा फुला दिया जाता है, जिससे मरीज का वजन धीरे-धीरे कम हो जाता है। इस प्रक्रिया में कोई ऑपरेशन की जरूरत नहीं होती। रविवार को आयोजित निसंतानता शिविर के अंतर्गत हॉस्पिटल की दोनों शाखाओं में कुल मिलाकर 200 मरीजों की निशुल्क जांच परामर्श डॉ. सुमन गालवा, डॉ. चेतना अग्रवाल डॉ. नेहा माथुर द्वारा दिया गया।

श्रीराम हॉस्पिटल में शिविर में बड़ी संख्या में लोग लाभान्वित हो रहे हैं।

सिटी रिपोर्टर|जोधपुर

दैनिकभास्कर श्रीराम हॉस्पिटल के संयुक्त तत्वाधान में मोटापा डायबिटीज सर्जरी के बारे में निशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर मंगलवार से प्रारंभ होगा। 5 फरवरी तक श्रीराम हॉस्पिटल की दोनों शाखाओं में होने वाले शिविर में श्रीराम हॉस्पिटल के डॉक्टर्स शल्य चिकित्सा के क्षेत्र मे हो रही नवीन तकनीकों द्वारा मोटापा कम करने के बारे में परामर्श देंगे। डॉ. सुनील चांडक ने बेरियाट्रिक सर्जरी के बारे में बताया कि भारत में पिछले 10 सालों से मोटापे के स्तर में करीब 35 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। मोटापा होने के कारण विभिन्न बीमारियां होती हैं। डायबिटीज, रक्तचाप, दिल की बीमारी, सांस लेने में परेशानी, जोड़ों में दर्द आदि होने लगता है। शिविर में डॉ. चांडक डॉ. दिवाकर बंसल सेवाएं देंगे। उल्लेखनीय है कि श्रीराम हॉस्पिटल में अत्याधुनिक मशीनों द्वारा बेरियाट्रिक सर्जरी की जाती है, अब तक यहां 1000 से ज्यादा सफल सर्जरी करके मरीजों का मोटापा कम किया जा चुका है। बेरियाट्रिक सर्जरी के क्षेत्र में श्रीराम हॉस्पिटल पश्चिमी राजस्थान का एकमात्र हॉस्पिटल है। चांडक ने बताया कि मोटापा सर्जरी की नवीनतम विधियों में बैलून विधि को भी काफी सराहा। इस विधि के दौरान मरीज के पेट में एक प्लास्टिक का गुब्बारा फुला दिया जाता है, जिससे मरीज का वजन धीरे-धीरे कम हो जाता है। इस प्रक्रिया में कोई ऑपरेशन की जरूरत नहीं होती। रविवार को आयोजित निसंतानता शिविर के अंतर्गत हॉस्पिटल की दोनों शाखाओं में कुल मिलाकर 200 मरीजों की निशुल्क जांच परामर्श डॉ. सुमन गालवा, डॉ. चेतना अग्रवाल डॉ. नेहा माथुर द्वारा दिया गया।

खबरें और भी हैं...