पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • मकान में छुपे आतंकियों को ढेर कर लोगों को छुड़ाने का जीवंत प्रदर्शन

मकान में छुपे आतंकियों को ढेर कर लोगों को छुड़ाने का जीवंत प्रदर्शन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस महानिदेशक ने कहा- पुलिसकर्मियों को सीखने का मौका मिलेगा | देशमें बढ़ रहे अपराध को देखते हुए पुलिसकर्मियों को कमांडो ट्रेनिंग जरूरी है। कमांडो प्रतियोगिता से यहां दूसरे पुलिसकर्मियों को भी सीखने का मौका मिलेगा। ये बात पुलिस महानिदेशक मनोज भट्ट ने पत्रकारों से कही। पुलिस महानिदेशक भट्ट ने कहा कि कमांडो दस्तों की बौद्धिक, शारीरिक और मानसिक गुणवत्ता से युद्ध की कला को निखारने के लिए इस प्रतियोगिता का आयोजन हो रहा है। जोधपुर में इसके लिए बेहतर सुविधाएं हैं। इसलिए इसकी मेजबानी करने का मौका जोधपुर को मिला है।

डीजीपी मनोज भट्ट ने कहा कि पुलिसकर्मी को अपराध पर नियंत्रण रखने और कानून व्यवस्था बनाने का काम करना पड़ता है, लेकिन अब पुलिस को सांप्रदायिकता, आतंकवाद, अलगाववाद और नक्सलवाद सरीखी समस्याओं से भी जूझना पड़ रहा है। ऐसे में पुलिसकर्मी की कमांडो ट्रेनिंग जरूरी हो गई है। वे सोमवार को आरपीटीसी में सातवीं अखिल भारतीय पुलिस कमांडो प्रतियोगिता-2016 के उद‌्घाटन समारोह में बोल रहे थे। एडीजी आर्म्ड बटालियन ओपी मल्होत्रा ने कहा कि वीआईपी सुरक्षा आंतरिक सुरक्षा आदि में कमांडो दस्तों की भूमिका अहम होती है। कार्यक्रम में एडीजी क्राइम पीके सिंह, एडीजी बीएल सोनी, आईजी हवासिंह घुमरिया, पुलिस कमिश्नर अशोक राठौड़, आईजी बीकानेर विपिन पांडे, आईजी बीएसएफ अनिल पालीवाल, मेजर जनरल दलवीर सिंह, आरपीटीसी प्रधानाचार्य केबी वंदना, आरपीटीसी कमांडेंट हरिराम चौधरी, पीटीएस कमांडेंट जसवंतसिंह बालोत, कमांडो स्कूल के कमांडेंट रमेश मौर्य, एसपी ग्रामीण हरेंद्र कुमार महावर सहित कई पुलिस अधिकारी मौजूद थे। आयोजन समिति सचिव एडीजी हाउसिंग राजीव शर्मा ने आभार जताया।

बच्चों से भरी बस को आतंकियों से मुक्त कराया

मंडोरगार्डन से नौ बच्चों को लेकर एक बस किशोरबाग की तरफ रही थी। मंडोर बस स्टैंड पर दो हथियारबंद आतंकी घुसे और बस को हाइजैक कर लिया। आतंकियों ने बच्चों के बदले अपने कुछ आकाओं को छुड़ाने की डिमांड की तो पुलिस ने खाना भेजने के बहाने एक बुजुर्ग को भेजा। बुजुर्ग के साथ एक कमांडो गया और बस के नीचे घुस गया। बुजुर्ग खाना देकर बाहर आया और कमांडो को इशारा करते ही कमांडो टीम ने कुछ ही सैकंड में बस को चारों ओर से घेर कर दोनों आतंकी मार गिराए। इस जीवंत प्रदर्शन के दौरान आरपीटीसी ग्राउंड दर्शकों की तालियों से गूंज उठा।

बाइकपर दिखाए हैरतअंगेज करतब

राजस्थानपुलिस के बाइकर्स की टीम ने बैलेसिंग का अद‌्भुत नमूना पेश किया। इसमें आठ बाइक पर 32 जनों की बैलेसिंग देखने लायक थी। इनमें 10-12 महिला बाइकर्स भी शामिल थीं। इस दौरान पुलिस के कमांडो ने कराटे की भी शानदार प्रस्तुति दी।

क्राइम रिपोर्टर | जोधपुर

जीआरपीपुलिस लाइन में अलसुबह पांच बजे हाथों में हथियार थामे कमांडो टीम ने अपने सीनियर का इशारा पाते ही एक मकान में छुपे आतंकियों को कुछ ही देर में ढेर कर दिया और आतंकियों के कब्जे से लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला। यह नजारा सोमवार को शुरू हुए सातवें ऑल इंडिया कमांडो कंपीटिशन-2016 का था। इसमें अलग-अलग स्टेट से आए टीमों के कमांडो ने अपनी बहादुरी का परिचय देते हुए स्पेशल ऑपरेशन कर आमजन को छुड़ाया।

तेज ठंड में राजस्थान के कमांडो ने पहले अपनी जीत दर्ज करवाई। इसके बाद छत्तीसगढ़ और एनएसजी की टीम ने अपने रण कौशल का प्रदर्शन किया। फिर ये टीमें गोलासनी फायरिंग रेंज गईं, जहां ‘स्मॉल टीम जंगल ऑपरेशन’ में अपना साहस दिखाया। दूसरी ओर सरदार पटेल विवि के नए भवन में सीआईएसएफ, झारखंड, बिहार तमिलनाडु के कमांडो ने ब्रीफिंग एंड अरबन एग्जीक्यूशन में कमांडो ने हथियारों के साथ अपने कौशल, धैर्य और रेस्पॉन्स का प्रदर्शन किया। इससे पूर्व कमांडोज ने 1.3 किमी की बाधा दौड़ आसानी से पार की।

25टीमों के 625 कमांडो ले रहे भाग : प्रतियोगितामें 25 टीमों के 625 से अधिक कमांडो भाग ले रहे हैं। मीडिया सेंटर प्रभारी एसपी सीआईडी क्राइम ब्रांच मदन गोपाल मेघवाल ने बताया कि सोमवार को 8 टीमों के 176 कमांडोज के बीच रोमांचक मुकाबला हुआ।

कमांडोज ने बाइक पर बैलेंसिंग का अद‌्भुत प्रदर्शन किया। तीन बाइक पर ितरंगा लिए 14 कमांडो ने एक साथ दूरी तय की। वहीं 8 बाइक पर 32 कमांडो एक साथ चले।

कंपीटिशन के दौरान महिला कमांडो ने भी दमदार प्रदर्शन कर अपना साहस दिखाया। पत्थरों की कई टाइलों को एक ही प्रहार से तोड़ने सहित मार्शल आर्ट का हुनर दिखाया।

खबरें और भी हैं...