• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • रिफाइनरी के लिए आवंटित 12 हजार 34 बीघा जमीन की लीज डीड एचआरआरएल की प्रक्रिया शुरू

रिफाइनरी के लिए आवंटित 12 हजार 34 बीघा जमीन की लीज डीड एचआरआरएल की प्रक्रिया शुरू

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेशकी पहली रिफाइनरी प्रोजेक्ट के लिए एकाएक तेजी शुरू कर दी गई। पचपदरा में लगने वाली इस रिफानरी के लिए शुक्रवार को एचपीसीएल की तीन सदस्यीय टीम ने पचपदरा पहुंचकर रिफाइनरी के लिए आबंटित 12 हजार 34 बीघा जमीन की लीज डीड एचआरआरएल नाम करवाने की प्रक्रिया शुरू की। शुक्रवार को ही पचपदरा आई तीन सदस्यीय टीम ने तहसील कार्यालय पहुंचकर लीज डीड के लिए कागजी कार्रवाई शुरू की। यह टीम तीन-चार दिन तक जोधपुर-बाड़मेर पचपदरा ही रुकेगी और लीज डीड अन्य कार्यों के लिए आवश्यक काम करेगी। टीम ने जोधपुर में कमिश्नर बाड़मेर में जिला कलेक्टर से मीटिंग कर रिफाइनरी प्रोजेक्ट के लिए आवश्यक सुविधाओं को लेकर चर्चा की।

इससे कुछ दिन पहले ही एचपीसीएल के अधिकारियों की टीम ने प्रस्तावित रिफाइनरी स्थल का जायजा लेकर रिफाइनरी स्थल तक पानी की पाइप लाइन, हाइवे से एप्रोच रोड बिजली उपलब्धता करवाने की प्लानिंग तैयार की थी। इधर, मेगा प्रोजेक्ट रिफाइनरी टाउनशिप की बाउंड्री वॉल के लिए 10 जुलाई को ऑन लाइन ई-टेंडर अपलोड कर दिए गए हैं बाउंड्री वॉल का काम लेने के इच्छुक कांट्रेक्टरों की प्री बीड मीटिंग 17 जुलाई को गुड़गांव स्थित इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड के मुख्यालय में होगी। 31 जुलाई तक ऑनलाइन टेंडर सबमिट हो सकेंगे वहीं इसके बाद जल्दी ही टेंडर खोले जाएंगे।

रिफाइनरी स्थल तक बिजली-पानी एप्रोच रोड के लिए कंपनी ने प्रयास तेज कर दिए हैं। हालांकि रिफाइनरी के लिए नाचना से इंदिरा गांधी नहर परियोजना का पानी लाने के लिए स्थायी रूप से पाइप लाइन बिछाई जाएगी। मगर फिलहाल रिफाइनरी के निर्माण के दौरान जो पानी की आवश्यकता होगी, इसके लिए उम्मेदसागर-धवा-कल्याणपुर-समदड़ी पेयजल परियोजना के नागाणा ओवरहैड टैंक से पाइप लाइन रिफाइनरी स्थल तक बिछाने का प्लान है। वहीं बिजली के लिए बालोतरा आसोतरा फांटा स्थित 220 केवी जीएसएस से लाइनें बिछाने का काम शीघ्र ही शुरू होगा। इसके अलावा करीब दो किलोमीटर एप्रोच रोड बनाकर रिफाइनरी स्थल को हाइवे से जोड़ा जाएगा।

^बहुत जल्दी काम शुरू करवाने का प्रयास कर रहे हैं। बाउंड्री वॉल का टेंडर निकाल दिया है। ये 31 जुलाई तक सबमिट हो जाएंगे, इसके बाद जल्दी ही वॉल का काम शुरू करवा दिया जाएगा। जमीन की लीज डीड प्रक्रिया के लिए पचपदरा टीम भेजी हुई है। रेजीमैथ्यू, जनरल मैनेजर, एचपीसीएल।

तेल कुओं से रिफाइनरी स्थल तक बिछेगी पाइप लाइन

बाड़मेरमें केयर्न एनर्जी की ओर से निकाले जा रहे क्रूड ऑयल को रिफाइनरी तक जोड़ने के लिए करीब 60 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाने का काम होगा। 30 इंची चौड़ी इस पाइप लाइन से क्रूड ऑयल रिफाइनरी तक पहुंचेगा। यह काम भी रिफाइनरी के साथ-साथ ही पूरा कर दिया जाएगा। वहीं इसके साथ रिफाइनरी स्थल पचपदरा से गुजरात बंदरगाह तक करीब 650 किलोमीटर लंबी 30 इंच चौड़ी पाइप लाइन बिछाने का काम भी इसके साथ-साथ ही किया जाएगा। ताकि रिफाइनरी शुरू होने पर पेट्रोल-डीजल अन्य उत्पाद पोर्ट तक आसानी से भेजे जा सके। एचपीसीएल के विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार रिफाइनरी से निकलने वाले पेटकॉक से भी बिजली बनाने की योजना है। इसके लिए प्लांट बनाकर पेटकॉक से करीब 270 मेगावाट बिजली बनाई जाएगी।

बाउंड्री वॉल पर ही खर्च होंगे 50 करोड़ रुपए

ई-टेंडरके मुताबिक मेगा प्रोजेक्टर रिफाइनरी टाउनशिप की बाउंड्री वॉल पर कुल 46 करोड़ 18 लाख 43 हजार रुपए खर्च होंगे। बाउंड्री वॉल का काम तीन पार्ट में दिया जाएगा। पहला पार्ट रिफाइनरी कॉम्पलेक्स के लिए बाउंड्री वॉल का काम 23 करोड़ 93 लाख 52 हजार रुपए का है। वहीं पार्ट बी रिफाइनरी कॉम्पलेक्स बाउंड्री वॉल का काम 12 करोड़ 35 लाख 4 हजार रुपए का है। इसी तरह पार्ट सी में टाउनशिप की बाउंड्री वाॅल का काम 9 करोड़ 89 लाख 87 हजार रुपए का है।

बालोतरा. रिफाइनरी बाउंड्री वॉल का नक्शा, जो ई-टेंडर में दिया गया है।

मुख्य बातें

{ 50 करोड़ की लागत से बनेगी रिफाइनरी बाउंड्री वॉल

{ बाउंड्री वाल का काम तीन हिस्सों में होगा

{ पानी के लिए नाचना से इंदिरा गांधी नहर परियोजना का पानी लाने के लिए स्थायी रूप से पाइप लाइन बिछाई जाएगी।

{ बिजली के लिए बालोतरा आसोतरा फांटा स्थित 220 केवी जीएसएस से लाइनें बिछाने का काम शीघ्र ही शुरू होगा

{ करीब दो किलोमीटर एप्रोच रोड बनाकर रिफाइनरी स्थल को हाइवे से जोड़ा जाएगा

खबरें और भी हैं...