पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • 1969 पर सिर्फ मिस्ड कॉल करेंगे तो आएगा कॉल, सफाई को लेकर खुलकर बताएं

1969 पर सिर्फ मिस्ड कॉल करेंगे तो आएगा कॉल, सफाई को लेकर खुलकर बताएं

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
स्वच्छशहरों में शामिल करवाने के लिए जोधपुराइट्स टोल फ्री नंबर 1969 पर एक मिस्ड कॉल करेंगे तो जोधपुर को अपनी मंजिल मिल सकती है। मिस्ड कॉल करने पर आपके पास वापस एक फोन आएगा, जिसमें आपसे सफाई के बारे छह बिंदुओं की जानकारी लेंगे। शहर की सफाई को लेकर आप खुलकर बताएं। एक नंबर का बटन दबाकर जोधपुर को अच्छी रैंकिंग दिला सकते हैं। इसकी लाइन 7 से 12 फरवरी तक खुली रहेगी। स्वच्छ भारत मिशन के तहत जोधपुर की मार्किंग के लिए केंद्र सरकार ने यह व्यवस्था की है। इधर केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई सर्वे एजेंसी क्वालिटी ऑफ कंट्रोल (क्यूसीआई) टीम ने सोमवार को दूसरे दिन भी शहर के विभिन्न इलाकों में जाकर स्वच्छता अभियान के तहत बनाए गए कम्यूनिटी शौचालय सहित अन्य तय पैरामीटर जांचे और शाम को अपनी रिपोर्ट दिल्ली भेज दी। मंगलवार को तीसरे अंतिम दिन यह टीम सफाई के मैकेनिज्म के लिए स्थापित प्लांट सहित अन्य व्यवस्थाओं को भी देखने जाएगी। इसके बाद जोधपुर की सफाई को लेकर संपूर्ण रिपोर्ट सबमिट कर देगी। हालांकि पब्लिक ओपिनियन, शिकायत समाधान के आधार पर जोधपुर ने 500 शहरों में से 97वां स्थान हासिल कर लिया है, लेकिन असली अग्निपरीक्षा अगले छह दिन तक है।

ऑनलाइन-मिस्डकॉल कर दें फीडबैक

स्वच्छभारत मिशन में जन सहभागिता पाने के लिए महापौर घनश्याम ओझा आयुक्त अरुण कुमार हसीजा ने शहर के लोगों को 1969 पर ज्यादा से ज्यादा मिस्ड कॉल ऑनलाइन फीडबैक रजिस्ट्रेशन करवाने की अपील की है। आयुक्त के अनुसार सभी जोन उपायुक्तों को राज्य सरकार के निर्देशों के अनुरूप तय लक्ष्य न्यूनतम 5000 सिटी फीडबैक 10 फीसदी स्वच्छता एप डाउनलोड करवाने के लिए लोगों को प्रेरित करवाने की अपील की है।

मिल्क मैन कॉलोनी में घर में बनाए टॉयलेट की जांच की गई।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत जोधपुर की मार्किंग के लिए केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई सर्वे एजेंसी क्वालिटी ऑफ कंट्रोल (क्यूसीआई) टीम ने सोमवार को दूसरे दिन भी वार्ड-वार्ड घूमकर तय मापदंडों के अनुसार सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान टीम सदस्यों को कॉमर्शियल बाजारों में डस्टबिन कम नजर आए, लेकिन शौचालय के मामले में टीम सदस्य संतुष्ट दिखे। शाम को दो दिन की रिपोर्ट दिल्ली भेज दी है। टीम मंगलवार को दोपहर तक तीन दिन तक किए सर्वे की संपूर्ण रिपोर्ट मंत्रालय को भिजवा देगा। इसके बाद ही तय होगा कि जोधपुर स्वच्छता सर्वेक्षण में देश भर में कौनसे नंबर पर है। टीम लीडर रणजीत ने निगम मुख्यालय में बैठकर अफसरों से सफाई के मैकेनिज्म को लेकर पूरी जानकारी हासिल की। दूसरे दिन दोनों टीम सदस्य लीडर के निर्देश पर मिल्कमैन कॉलोनी, कुम्हारों को बास, पाल लिंक रोड स्थित राजीव गांधी कच्ची बस्ती, मंडोर उद्यान, निंबा निंबड़ी आैर भगवान महावीर हड्डी मिल में घर-घर जाकर स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए टॉयलेट्स का निरीक्षण किया। इन मकानों में टॉयलेट्स बनाने के लिए केंद्र सरकार की आेर से सहायता राशि उपलब्ध करवाई गई थी। टीम ने इन स्थानों पर कम्युनिटी टॉयलेट, सुलभ कॉम्पलेक्स, निर्माणाधीन कम्युनिटी टॉयलेट्स, डस्टबिन की संख्या आैर उनकी सफाई व्यवस्था को देखा। दूसरी टीम कालीबेरी, झींझाबेरी, पांचवीं रोड से लेकर बोम्बे मोटर्स चौराहा, स्टेडियम शॉपिंग सेंटर, पावटा सी रोड, भगत की कोठी क्षेत्र का दौरा कर बारीकी से निरीक्षण किया।

खबरें और भी हैं...