• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • सफाई पर निगम गंभीर, 8 माह पुराना एप शुरू गंदगी दिखी तो बीट कर्मचारी पर कार्रवाई

सफाई पर निगम गंभीर, 8 माह पुराना एप शुरू गंदगी दिखी तो बीट कर्मचारी पर कार्रवाई

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हर 2 किमी पर जेईएन, 5 किमी पर एईएन रखेंगे नजर

हसीजाने कहा कि तकनीकी अधिकारी शहर में सफाई की मॉनिटरिंग करेंगे। हर दो किलोमीटर पर एक जेईएन, 5 किलोमीटर पर एईएन सफाई व्यवस्था को देखेंगे। वहीं तीन एक्सईएन शहर की सभी मुख्य सड़कों की सफाई व्यवस्था की नियमित मॉनिटरिंग करेंगे।

इन्फ्रा रिपोर्टर. जोधपुर| मुख्यमंत्रीवसुंधरा राजे के जोधपुर के प्रस्तावित दौरे को देखकर नगर निगम भी शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर गंभीर हो गया है। कुछ दिनों पूर्व सफाई को लेकर नया पैटर्न ज्यादा कारगर साबित नहीं होने के बाद निगम ने आनन-फानन में मॉनिटरिंग को लेकर नया फॉर्मूला लागू कर दिया है। निगम ने अब सफाई कर्मचारियों को हिदायत दी है कि अगर मुख्य सड़कों पर कचरा फैला हुआ मिला तो संबंधित बीट के सफाई कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री के दौरे को देखकर आठ माह पूर्व शुरू किया स्वच्छता एप भी दुबारा से चालू मोबाइल में डाउनलोड करने के निर्देश दिए हैं। यह निर्देश गुरुवार को आयुक्त अरुण कुमार हसीजा ने निगम सभागार में सफाई अभियंता विंग के अफसरों की बैठक में दिए।

अगलेमहीने केंद्र से आएगी स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम

आयुक्तने बैठक में सफाई विंग के कर्मचारियों के समक्ष यह बात स्वीकार करते हुए कहा कि वर्तमान में शहर में सफाई व्यवस्था में काफी सुधार की जरूरत है। अगले महीने स्वच्छता सर्वेक्षण होना है। ऐसे में केंद्र सरकार द्वारा भेजी टीम सर्वेक्षण करेगी। टीम को शहर गंदा नजर आया तो रिपोर्ट गलत जाएगी। हसीजा ने कहा कि सभी मुख्य सड़कों पर नियमित सफाई हो और कचरे के डिब्बों को नियमित खाली किया जाए। इसकी जिम्मेदारी सीएसआई की होगी।

खबरें और भी हैं...