--Advertisement--

ट्रेन के फ़र्स्ट एसी कोच में बिना टिकट पकड़ा गया डॉग, 1600 रु. की पेनल्टी लगाई

पेनल्टी पर आपत्ति जताते हुए सक्सेना ने रेलवे की हेल्पलाइन सेवा 138 पर फोन कर मदद मांगी।

Dainik Bhaskar

Jan 05, 2017, 04:41 AM IST
Dog caught First AC coach of the train without a ticket
जोधपुर. भगत की कोठी से पुणे जानी वाली ट्रेन के फ़र्स्ट एसी कोच में रेलवे ने एक डॉग को बिना उचित टिकट लेकर सफर करने का मामला बनाने के साथ ही डॉग पर 1600 रुपए की पेनल्टी लगाकर उसकी रसीद भी बनाई गई है। डॉग को साथ ले जा रहे यात्री ने रेलवे की इस कार्रवाई पर रेलवे बोर्ड स्तर पर आपत्ति जताई है। उसकी शिकायत है कि जब स्टेशन पर डॉग की बुकिंग करने वाले कर्मचारी मौजूद ही नहीं थे तो वह किससे रसीद बनवाता।
- दरअसल डॉग ऑनर ने एक दिन पहले रेलवे से इसके लिए संपर्क भी किया था।
- क्या डॉग बुकिंग नहीं होने में रेलवे की गलती थी, इसका पता लगाने के लिए मंडल रेल प्रबंधक ने जांच के आदेश दिए हैं।
- हुआ यूं कि मनीष सक्सेना पत्नी के साथ ट्रेन संख्या 11089 भगत की कोठी-पुणे एक्सप्रेस के फ़र्स्ट एसी कोच के सी कूपे में जा रहे थे, उनके साथ डॉग भी था।
- सक्सेना की मानें तो उन्होंने यात्रा से एक दिन पहले भगत की कोठी स्टेशन पर पार्सल अधिकारी बीडी शर्मा से डॉग बुकिंग के बारे में बात की तो उन्हें बताया गया था कि ट्रेन चलने से 45 मिनट पहले पहुंच जाना, उसी समय बुकिंग हो जाएगी।
- सक्सेना 45 मिनट पहले पहुंच भी गए, लेकिन स्टेशन पर पार्सल बुकिंग करने वाला कर्मचारी मौजूद ही नहीं था।
- स्टेशन से एक कर्मचारी ने शर्मा को फोन भी लगाया लेकिन इस बात का जवाब नहीं मिला कि पार्सल बुकिंग बंद क्यों है। इस दौरान ट्रेन चलने का टाइम हो गया।
- उन्होंने टीटीई आईएस गौतम को पूरी बात बताई। वे डॉग को साथ लेकर सी कूपे में बैठ गए।
- कुछ देर बाद टीटीई आया और डॉग को बिना टिकट बता छह गुणा पेनल्टी के साथ 1980 रुपए मांगे। कायदे से डॉग की बुकिंग होती तो महज 300 रुपए ही किराया लगता।
डॉग बुकिंग कराने गए पर कर्मचारी नहीं मिला
पेनल्टी पर आपत्ति जताते हुए सक्सेना ने रेलवे की हेल्पलाइन सेवा 138 पर फोन कर मदद मांगी। वहां से रेलवे कंट्रोल रूम का नंबर दिया गया। कंट्रोल रूम में बात की तो जवाब मिला कि पेनल्टी तो देनी पड़ेगी। यात्री ने रेलवे बोर्ड तक शिकायत पहुंचाई कि जब वह तय समय पर स्टेशन पहुंचा, 1 दिन पहले डॉग बुकिंग के बारे में जानकारी ली लेकिन रेलवे कर्मचारी ही नदारद थे तो वे बुकिंग कहां से करवाते? यह बात रेलवे बोर्ड से डीआरएम राहुल कुमार गोयल तक पहुंची तो इसकी जांच के आदेश दे दिए।
X
Dog caught First AC coach of the train without a ticket
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..