जोशी को इस बार जीतने में आया जोर, 61 वोटों से जीत कर 12वीं बार बने अध्यक्ष

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जोधपुर. राजस्थान हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन के सोमवार को हुए चुनाव में रणजीत जोशी ने सीधी टक्कर में माणकलाल चांडक को शिकस्त दी। जोशी ने 12 वीं बार जीत दर्ज कर रिकॉर्ड बनाया, हालांकि उन्हें इस जीत में काफी जोर आया और महज 61 वोटों से जीत मिली। जीत का अंतर कम होने की वजह से चांडक के आग्रह पर री-काउंटिंग करवाई गई। वहीं प्रवीण दयाल दवे ने उपाध्यक्ष तथा करुणानिधि व्यास ने महासचिव पद पर जीत दर्ज की।
 
करीब साढ़े पांच बजे मतगणना शुरू हुई, जो साढ़े नौ बजे तक चली। मुख्य चुनाव अधिकारी किशनसिंह चारण ने परिणामों की घोषणा की।पहला नतीजा सहसचिव पद का आया और अंतिम अध्यक्ष पद का। जोशी की जीत के कयास तो लगाए जा रहे थे, लेकिन जीत का अंतर इतना रहना, हर किसी के लिए चौंकाने वाला रहा। जोशी को 1092 मत मिले, जबकि चांडक को 1031 मत प्राप्त हुए।
 
पिछली बार जोशी ने 275 वोटों से जीत दर्ज की थी। बाद में समर्थकों ने नारे लगाए और विजेताओं का माल्यार्पण कर स्वागत किया। एसोसिएशन के चुनाव को लेकर सदस्य वकीलों में जबरदस्त उत्साह दिखा। सुबह 10 बजे से पहले ही मतदाता पहुंचने शुरू हो गए। दोपहर होते-होते 50 फीसदी से ज्यादा वोटिंग हो चुकी थी। वोटिंग के लिए दो जगह बूथ बनाए गए थे। बूथ के बाहर खड़े उम्मीदवार मतदाताओं से अपने पक्ष में वोट देने का आग्रह कर रहे थे। सुबह दस बजे से अपरान्ह साढ़े चार बजे तक मतदान का समय निर्धारित था। अंतिम समय में भी कुछ वकील दौड़ते-भागते वोट डालने आए।  
 
 
किसको कितने मत मिले 
 
उपाध्यक्ष पद पर प्रवीण दयाल दवे ने रतनाराम ठोलिया को 253 मतों से हराया। दवे को  738 मत मिले जबकि ठोलिया को 485 मत प्राप्त हुए। जयदेव सिंह को 41, सुमेरसिंह राजपुरोहित को 327, जावेद खान मोयल को 287, हनुमानसिंह को 237 मत मिले।  
 
 
करुणानिधि व्यास महासचिव
 
करुणानिधि व्यास ने महासचिव पद पर 380 वोटों से जीत दर्ज की। उन्होंने प्रहलाद सिंह भाटी को हराया। व्यास को 826 वोट मिले, जबकि भाटी को 446 वोट प्राप्त हुए। सज्जनसिंह ने 327 वोट प्राप्त कर तीसरा स्थान प्राप्त किया। मनीष पुरोहित को 286 वोट व मोहन जाखड़ को 219 मत मिले।  
 
जैन बने कोषाध्यक्ष

कोषाध्यक्ष पद पर पुखराज जैन ने आशीष कृष्ण पुरोहित को 75 मतों से शिकस्त दी। जैन को 470 मत मिले, जबकि पुरोहित को 395 मत प्राप्त हुए। इसी तरह निवर्तमान कोषाध्यक्ष रामकिशोर प्रजापत सबसे अंतिम स्थान पर रहे, उन्हें केवल 222 मत मिले। पुखराज गोदारा को 323, लक्ष्मीनारायण माथुर को 241, दीनदयाल को 225, मदनसिंह राठौड़ 222 मत प्राप्त हुए, जबकि 28 मत खारिज हुए।  
 
चौधरी सह सचिव निर्वाचित

विजय चौधरी ने दीपाराम चौधरी को 115 वोटों से हराकर सह सचिव पद पर कब्जा जमाया। विजय को 717 वोट मिले, जबकि दीपाराम को 602 वोट मिले। धीरेंद्र दाधीच को 318, कानसिंह ओड को 283, मंडलदत्त कल्ला को 111 व लक्ष्मण कुमार को 49 वोट प्राप्त हुए।  
 
सुशीला पुस्तकालय सचिव

सुशीला शर्मा ने संजू धाणदिया को 177 वोटों से हराया। निवर्तमान पुस्तकालय सचिव खुशबू रतावा तीसरे स्थान पर रही। सुशीला शर्मा को 620 मत, संजू धाणदिया को 443 मत, खुशबू रतावा को 431, रवि पुरोहित को 237, शिव कुमार भाटी को 212 व मुरीद खान को 149 मत मिले।
खबरें और भी हैं...