पत्नी से तंग आकर पति ने किया सुसाइड, लिखा- हर महिला मासूम नहीं होती / पत्नी से तंग आकर पति ने किया सुसाइड, लिखा- हर महिला मासूम नहीं होती

मामले की पड़ताल की पता चला कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने पत्नी की धमकी से परेशान होकर खुदकुशी कर ली।

Bhaskar news

Jul 01, 2016, 01:00 AM IST
पत्नी की धमकियों से परेशान था पत्नी की धमकियों से परेशान था
जोधपुर. शहर का एक युवक। सॉफ्टवेयर इंजीनियर की अच्छी-खासी नौकरी। करीब छह साल पहले शहर की ही युवती से शादी हुई। शादी के बाद ही दोनों में अनबन होने लगी। इसके चलते युवती पति के साथ कम पीहर में अधिक रहने लगी। इससे परेशान होकर युवक ने यह लिख कर कि हर बार महिला मासूम नहीं होती, पुरुषों के लिए भी कानून बनें, ताकि उसके जैसा कोई बेकसूर न मारा जाए... अपनी जान दे दी।
- युवक ने खुदकुशी करने से पहले सुसाइड नोट में यह भी लिखा कि उसे उसकी पत्नी अपनी मां और भाई के साथ मिल कर दहेज हत्या में फंसाने और 15 लाख रुपए देने के लिए धमकियां दे रही थी।
- मामले की पड़ताल की पता चला कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने पत्नी की धमकी से परेशान होकर खुदकुशी कर ली।
- इसका खुलासा मृतक ने खुदकुशी करने से पहले सुसाइड नोट में किया। इंजीनियर ने बुधवार दोपहर पंखे पर फंदा लगा खुदकुशी करने का प्रयास किया।
- इस पर उसे एमडीएम अस्पताल भर्ती करवाया गया, जहां गुरुवार सुबह इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।
- पुलिस ने मृतक के भाई की रिपोर्ट पर उसकी पत्नी, सास व साले के खिलाफ आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का मामला दर्ज किया है।
पीहर से पत्नी की धमकियों से परेशान था

- विजय ने बताया कि उसके भाई दिनेश की वर्ष 2010 में लता शर्मा से शादी हुई थी।
- शादी के कुछ सालों बाद वह अलग होने के लिए उसके भाई पर दबाव बनाने लगी।
- इस बात को लेकर दोनों में विवाद के चलते वह अधिकतर समय पीहर ही रहती थी।
- उसकी भाभी करीब 20 दिन पहले अपने पीहर चली गई और फोन पर उसके भाई को तलाक के लिए धमकी दे रही थी। इस बात को लेकर वह पिछले कुछ दिनों से परेशान था।
दाएं हाथ पर थे गर्म प्रेस से दागने के निशान
- एसआई गणपतलाल ने बताया कि पाल बालाजी के पास विनायकपुरा निवासी विजय पुत्र देवीलाल मांकड़ ने रिपोर्ट दी कि उसके भाई दिनेश मांकड़ (30) ने बुधवार दोपहर करीब 1 बजे घर में फंदा लगा खुदकुशी करने का प्रयास किया।
- खाना खाने के लिए उसके कमरे में बुलाने के लिए जाने पर इसका पता चला।
- फंदे पर लटकने के बाद उसे बेहोशी की हालत में एमडीएम अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां गुरुवार सुबह उसकी मौत हो गई।
- युवक के खुदकुशी से पहले दाएं हाथ पर गर्म प्रेस के दागने के निशान थे।
मेरे जैसे बेकसूर युवक की जान बचाई जा सके
- दिनेश ने सुसाइड नोट में लिखा कि उसकी पत्नी लता काफी समय से तलाक की धमकी दे रही थी, वह 15 लाख रुपए व हर माह भत्ता देने की मांग कर रही थी।
- सास लीलादेवी व साला जितेंद्र भी इसमें उसका साथ दे दहेज मामले में फंसाने की धमकी दे रहे थे।
- शादी में दहेज में दिए आभूषण, 1 लाख रुपए, अन्य सामान उसकी पत्नी पहले ही अपने घर ले गई थी।
- उसनेे आखिर में लिखा कि समाज व न्यायपालिका को पुरुषों के लिए अलग से कानून बनाने चाहिए ताकि उस जैसे बेकसूर युवकों की जान बचाई जा सके।
- सभी महिलाएं निर्दोष नहीं होती, ऐसी महिलाएं कानून का गलत फायदा उठा लोगों को फंसाती हैं।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए दिनेश का लिखा सुसाइड नोट।
Man Suicide after get Disturbed by wife
Man Suicide after get Disturbed by wife
पत्नी की दहेज मामले में फंसाने व 15 लाख रुपए देने की धमकियों से परेशान युवक की दास्तां। पत्नी की दहेज मामले में फंसाने व 15 लाख रुपए देने की धमकियों से परेशान युवक की दास्तां।
सुसाइड नोट में लिखा- न्यायपालिका व समाज पुरुषों के लिए कानून बनाए, ताकि मेरे जैसे बेकसूर युवक की जान बचाई जा सके सुसाइड नोट में लिखा- न्यायपालिका व समाज पुरुषों के लिए कानून बनाए, ताकि मेरे जैसे बेकसूर युवक की जान बचाई जा सके
X
पत्नी की धमकियों से परेशान थापत्नी की धमकियों से परेशान था
Man Suicide after get Disturbed by wife
Man Suicide after get Disturbed by wife
पत्नी की दहेज मामले में फंसाने व 15 लाख रुपए देने की धमकियों से परेशान युवक की दास्तां।पत्नी की दहेज मामले में फंसाने व 15 लाख रुपए देने की धमकियों से परेशान युवक की दास्तां।
सुसाइड नोट में लिखा- न्यायपालिका व समाज पुरुषों के लिए कानून बनाए, ताकि मेरे जैसे बेकसूर युवक की जान बचाई जा सकेसुसाइड नोट में लिखा- न्यायपालिका व समाज पुरुषों के लिए कानून बनाए, ताकि मेरे जैसे बेकसूर युवक की जान बचाई जा सके
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना