पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • सरपंच प्रत्याशियों पर फर्जी दस्तावेज के मामलें दर्ज

सरपंच प्रत्याशियों पर फर्जी दस्तावेज के मामलें दर्ज

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिलेके मंडोर पंचायत समिति के पीथावास ग्राम पंचायत में दोनो सरपंच प्रत्याशी लीलादेवी रामेश्वरी के फर्जी दस्तावेज पेश करने के परस्पर आरोप को लेकर डांगियावास पुलिस थाने में मामले दर्ज हुए हैं। हाल ही में गत सप्ताह पीथावास सरपंच रामेश्वरी पुत्री कोजाराम के विरूद्घ डांगियावास पुलिस थाने में हारे हुए प्रत्याशी लीला प|ी सोहनलाल ने मामला दर्ज करवाया कि रामेश्वरी ने सरपंच आवेदन पत्र के साथ सभी दस्तावेज फर्जी लगाए हैं।

जिस पर पुलिस अभी तक जांच में जुटी हैं, लेकिन शुक्रवार शाम सरपंच प्रतिनिधि कोजाराम पुत्र कंवराराम जाट निवासी जाटियावास ने डांगियावास पुलिस थाने मे रिपोर्ट दी हैं कि सरपंच प्रत्याशी लीला प|ी सोहनलाल ने रिर्टनिंग अधिकारी के समक्ष सरपंच आवेदन पत्र के साथ स्थानांतरण पत्र मार्कशीट फर्जी पेश किए है। लीलादेवी के यह दस्तावेज भारत बाल निकेतन उप्रावि रोल जिला नागौर से हैं और इसमे 1996 मे आठवी पास दशार्या गया हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पिचियाक सरपंच के खिलाफ फर्जी दस्तावेज का मामला दर्ज

बिलाड़ा | पंचायतराज चुनाव में फर्जी दस्तावेज पेश कर चुनाव लड़ने के संबंध में बिलाड़ा पुलिस थाना में शुक्रवार को एक मामला दर्ज हुआ है। बिलाड़ा थानाधिकारी कैलाशचंद्र मीणा ने बताया कि पिचियाक गांव निवासी रेणु कुमारी प|ी अणदाराम जाति गरूड़ा ने प्रार्थना पत्र पेश कर बताया कि ग्राम पंचायत चुनाव में पिचियाक से सपना प|ी देवेंद्र कुमार बावरी ने नामांकन पत्र के साथ शैक्षणिक योग्यता के प्रमाण पत्र के रूप में पाली जिले के सोजत की गणेश माध्यमिक स्कूल की नवीं कक्षा उतीर्ण होने की ट्ीसी लगाई है। आरटीआई में ब्लॉक शिक्षा अधिकारी सोजत से मांगी गई सूचना में यह बताया गया है, कि सोजत ब्लॉक में गणेश माध्यमिक विद्यालय संचालित नहीं हो रहा है।

भोपालगढ़ | भोपालगढ़नाड़सर ग्राम पंचायत में सरपंच पद के लिए हाल ही में हुए संपन्न चुनावों में पराजित प्रत्याशियों ने सरपंच पद पर निर्वाचित प्रत्याशीयों पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाते हुए जिला न्यायालय में वाद दायर किया गया। भोपालगढ़ निवासी महावीर चौधरी ने दायर चुनाव याचिका में बताया कि 24 जनवरी को हुए मतदान के दौरान प्रत्याशी जमनादेवी ने आरओ के साथ मिलकर परिणाम में गड़बड़ी की। मतदान 12196 मतों का किया गया जबकि रिजल्ट सीट में 11713मतदान को रिकॉर्ड में बताया गया। इस प्रकार आरओ ने रिजल्ट सीट में 483 मतों का कोई ब्यौरा नहीं दिया। साथ ही अभ्यर्थी महावीर चौधरी को मतगणना से पहले बताया गया कि वार्ड पंचों की गिनती दो जगह सरपंच की गिनती एक जगह होगी,लेकिन सरपंच की भी गिनती दो जगह कर दी गई जिससे एक कमरे में अभ्यर्थी का एंजेट मौजूद नहीं था। एंजेट की गैर मौजूदगी में भी मतगणना करवा दी गई। इस दौरान संभावना है कि मतगणना की हेरफेर कर दी गई। साथ ही एंजेट ने पूर्नमतगणना की मांग को भी आरओ ने खारिज कर दिया।

पीपाड़ शहर | ग्रामपंचायत बोरुंदा वार्ड संख्या 10 से निर्वाचित वार्डपंच रामसिंह पुत्र जोगीदान चारण द्वारा 1995 के पश्चात हुई संतानों की जन्म तिथियों में फेरबदल किए जाने का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों द्वारा संभागीय आयुक्त, कलेक्टर उपखंड अधिकारी पीपाड़ शहर के समक्ष शिकायत प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करते हुए वार्डपंच चारण को अयोग्य घोषित किए जाने की मांग के अलावा आवश्यक कार्यवाही किए जाने की मांग की है। ग्रामीणों ने शिकायती प्रार्थना पत्र में बताया कि निर्वाचित वर्तमान वार्डपंच चारण द्वारा चुनाव के दौरान नाम निर्देशन आवेदन में अपने संतानों की संख्या चार बताई गई है इसमें पुत्री ज्योति की जन्मतिथि 27-10-1992 बताई है जबकि वास्तविक रूप से ज्योति की जन्मतिथि 5-7-1997 है। इसी प्रकार पुत्री निवेदिता की जन्मतिथि 28-5-1994 बताई है जबकि वास्तविक रूप से निवेदिता की जन्मतिथि 11-11-1996 है। वहीं चारण द्वारा 28-11-1995 के बाद अपनी कोई संतान नहीं होना बताया है जो कि गलत है। चारण द्वारा प्रस्तुत दस्तावेजों की नियमानुसार जांच करवाकर वार्डपंच पद से अयोग्य घोषित किए जाने की मांग भी ग्रामीणों द्वारा की गई है।

पीपाड़ शहर | पंचायतसमिति क्षेत्र की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत बोरुंदा के नवनिर्वाचित सरपंच नरेंद्रदान पुत्र उम्रदान चारण निवासी बोरुंदा द्वारा सरपंच चुनाव दौरान शैक्षणिक योग्यता संबंधी कुटरचित दस्तावेज प्रस्तुत किए जाने का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों के प्रतिनिधी मंडल ने पीपाड़ उपखंड अधिकारी के अलावा संभागीय आयुक्त, जिला कलेक्टर जोधपुर को शिकायती प्रार्थना पत्र सौपते हुए निर्वाचित सरपंच को अयोग्य घोषित किए जाने की मांग की गई है।

फलौदी | फर्जीप्रमाणपत्र के आधार पर दो महिलाओं ने पंचायतराज का चुनाव लड़ा जिसमें से एक जीत कर सरपंच भी बन गई। दोनों के विरुद्ध अदालत में दायर इस्तगासा पर अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट फलौदी ने पुलिस थाना को मुकदमा दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए हैं। पुष्पा पुत्री मानाराम विश्नोई निवासी ग्राम पंचायत छीतरबेरा ने यह इस्तगासा दायर किया है। उसके अनुसार 17 जनवरी को छीतरबेरा ग्राम पंचायत के सरपंच पद के लिए उसने, कलावती प|ी जयप्रकाश विश्नोई निवासी धतरवालों का गांव भोजासर तथा सुगनी प|ी बगडूराम विश्नोई निवासी छीतरबेरा ने नामांकन भरे थे तथा नामांकन पत्र के साथ आठवीं पास का प्रमाणपत्र संलग्न किया था। उसने उसी दिन कलावती सुगनी के 8वीं पास के प्रमाणपत्र कूटरचित होने की शिकायत निर्वाचन अधिकारी को पेश की थी, लेकिन प्रमाणपत्रों की कोई जांच नहीं की गईं। पुष्पा ने आरोप लगाया है कि कलावती की प्रमाणपत्र श्री लहर गुरु माध्यमिक विद्यालय भोजासर के प्रधानाध्यापक सहीराम द्वारा जारी किया गया है जबकि कलावती कभी उस स्कूल में पढ़ी ही नहीं। उसकी बहन संगीता पुत्री जोधाराम उस विद्यालय में पढ़ती थी जिसका नाम प्रवेशांक 203 पर दर्ज है जबकि केलावती की प्रवेशांक संख्या 239 बताई गई है। सत्र 2007 2008 के सत्र में उसका कहीं नाम दर्ज नहीं है। इसी प्रकार सुगनी ने जाति प्रमाण पत्र 8वीं का प्रमाणपत्र दोनों ही फर्जी पेश किये गये हैं। जाति प्रमाण पत्र धतरवालों का गांव टीसी में राउप्रावि मण्डलाकला दर्शाया गया है। चुनाव में कलावती सरपंच चुनी गई है। अभियुक्तों ने सरपंच पद के चुनाव के लिए षडयंत्र रचकर शैक्षणिक योग्यता के कूटरचित दस्तावेज तैयार कर पेश किये। अदालत ने धारा 467, 468, 420, 471, 120 बी आदि में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं।