पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • उद्यमियों ने केंद्रीय मंत्रियों को बताई जोधपुर में उद्योगों की समस्याएं संभावनाएं

उद्यमियों ने केंद्रीय मंत्रियों को बताई जोधपुर में उद्योगों की समस्याएं संभावनाएं

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लघुउद्योग भारती के एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रकाशचंद्र, राष्ट्रीय महामंत्री ओमप्रकाश मित्तल राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष घनश्याम ओझा के नेतृत्व में दिल्ली में विभिन्न मंत्रियाें से मुलाकात कर उद्योगों की समस्याएं संभावनाएं बताईं। प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय वाणिज्य वित्त राज्यमंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय सूक्ष्म लघु उद्योग मंत्री कलराज मिश्र, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल के साथ देशभर में कार्यरत उद्योगों के सामने रही कठिनाइयों के निराकरण के लिए विस्तृत चर्चा की।

केंद्रीय वाणिज्य वित्त राज्यमंत्री सीतारमण से कंपनी कानूनों में किए गए बदलाव, केंद्रीय उत्पाद कर की छूट सीमा बढ़ाने ब्याज की दरों को तर्क सम्मत बनाने आदि पर चर्चा की। वाणिज्य मंत्री ने बताया कि कंपनी कानूनों का सरलीकरण करने के लिए विस्तृत ड्राफ्ट शीतकालीन सत्र में पेश किया जाएगा। केंद्रीय सूक्ष्म लघु उद्योग मंत्री मिश्र से उद्योगों से संबंधित सभी सुझाव संबंधित मंत्रालयों को अपनी अनुशंषा के साथ भेजने का निवेदन किया गया। उद्योगों के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था करने की मांग की गई। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री जावडेकर को प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि केंद्रीय राज्य प्रदूषण निवारण मंडल सभी प्रकार के उद्योगों को चाहे उनमें पानी हवा का निस्तारण होता है या नहीं, अनापत्ति प्रमाण-पत्र के लिए बाध्य करता है। बिजली संबंध में अनापत्ति प्रमाण-पत्र की बाध्यता कर दी गई है। जोधपुर, पाली, बालोतरा जसोल में कार्यरत 1800 से अधिक वस्त्र उद्योग जिनमें लगभग 3 लाख श्रमिक काम करते हैं, के सामने पानी निस्तारण की गंभीर समस्याएं रही हैं। इसके लिए केंद्र विशेष आर्थिक सहयोग दे। केंद्रीय ऊर्जा मंत्री गोयल को देश में पवन सोलर ऊर्जा उत्पादन की असीम संभावनाएं बताईं। केंद्र अपने स्तर पर उत्पादन की एक नीति बनाए। प्रतिनिधिमंडल में जोधपुर, पाली, बालोतरा, जयपुर, अलवर, भोपाल, इंदौर, लुधियाना, चंडीगढ़, बोकारो, जमशेदपुर, आगरा सहित कई शहरों के उद्यमी शामिल थे।