हमारी फरियाद सुन लो ‘सरकार’

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहरवासियों की समस्याएं बढ़ गई हैं या मुख्यमंत्री से उनकी उम्मीद? रविवार को अशोक गहलोत शहर में जहां भी गए, वहां उन्हें ज्ञापन सौंपने लोग उमड़ पड़े। यह सिलसिला एयरपोर्ट से ही शुरू हो गया और अंतिम कार्यक्रम तक चलता रहा। मुख्यमंत्री ने न तो किसी को आश्वासन दिया और न ही कोई निर्देश। वे बस ज्ञापन लेकर आगे बढ़ते रहे।
जोधपुर.विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करने रविवार को जोधपुर आए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हवाई अड्डे पर ही फरियादियों की समस्याएं सुनीं। विभिन्न जिलों से आए लोगों ने अपनी समस्याएं बताईं और ज्ञापन सौंपे। एयरपोर्ट पर भीड़ के कारण गहलोत को मुख्य गेट तक पैदल जाना पड़ा।
एयरपोर्ट के मुख्य गेट के बाहर भी जोजरी नदी के आसपास के गांवों के लोग धरना देकर बैठे रहे। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस जाप्ता भी कम पड़ गया। एयरपोर्ट पर लोगों ने करीब एक हजार ज्ञापन सौंपे। एयरपोर्ट पर सुबह से ही फरियादियों की भारी भीड़ लगी रही।
सुबह पौने ग्यारह बजे विमान उतरने के बाद करीब आधा घंटा तक वे एयरपोर्ट से बाहर नहीं आए। उनके निजी स्टाफ व अधिकारियों ने भीड़ के बारे में उन्हें फीडबैक दिया। एयरपोर्ट से बाहर आते ही मुख्यमंत्री ने ज्ञापन लेने शुरू किए। अपनी व्यथा बताने आए फरियादियों से ज्ञापन लिए और बिना जवाब दिए आगे बढ़ते रहे।