पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रधानमंत्री देखने आएंगे युद्धाभ्यास ‘आयरन फीस्ट’

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जोधपुर.चांधन फील्ड फायरिंग रेंज में शुक्रवार को होने वाले भारतीय वायुसेना का वार गेम ‘आयरन फीस्ट’ में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी मौजूद रहेंगे। संभवतया पहली बार प्रधानमंत्री किसी सशस्त्र सेना के युद्धाभ्यास के साक्षी बनेंगे।
बीते दस साल में थार में आधा दर्जन थल व वायुसेना के युद्धाभ्यास हुए, लेकिन किसी में भी प्रधानमंत्री नहीं आए। वे पहली बार एयरफोर्स की ताकत देखने शुक्रवार को जैसलमेर आएंगे।
वायुसेना के इस आयोजन में पीएम के अलावा रक्षा मंत्री एके एंटनी, वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल एनएके ब्राउन, राज्यपाल माग्र्रेट अल्वा, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित 50 देशों के मिल्रिटी अटैची आएंगे। इनके अलावा इस वार गेम में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व राहुल गांधी, लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता सुषमा स्वराज के भी आने की चर्चा है, लेकिन प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की है।
अलग-अलग विमान से आएंगे
थार रेगिस्तान में तीन साल बाद हो रहे सबसे बड़े वार गेम ‘आयरन फीस्ट’ दिन व रात में होगा। यह दोपहर साढ़े तीन बजे शुरू होगा और रात करीब साढ़े नौ बजे तक चलेगा। जैसलमेर कलेक्टर शुचि त्यागी ने बताया कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, रक्षा मंत्री एंटनी अलग-अलग विमान से दोपहर तीन बजे जैसलमेर पहुंचेंगे। वहां से हेलिकॉप्टर से वे रण क्षेत्र में आएंगे। यहां रात नौ बजे तक युद्धक नजारे देखने के बाद सभी वीवीआईपी दिल्ली के रवाना हो जाएंगे।
तैयारियों की हुई रिहर्सल
राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री सहित अन्य वीवीआईपी की जैसलमेर यात्रा को लेकर एक सप्ताह से तैयारियां चल रही हैं। उच्चाधिकारियों की मौजूदगी में बुधवार को इसकी रिहर्सल की गई। इसके लिए जोधपुर से आईजी डीसी जैन व संभागीय आयुक्त हेमंत गेरा भी जैसलमेर पहुंचे।
विमानों का अभ्यास जारी
इस वार गेम के लिए एयरफोर्स की तैयारियों में सुखोई हादसे का असर नजर नहीं आया और लड़ाकू विमानों का अभ्यास जारी रहा। एयरफोर्स के सौ से अधिक विमानों ने बुधवार को जमकर अभ्यास किया। इनमें से अधिकांश विमानों ने जोधपुर से उड़ान भरी।