पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Ten States Have Accumulated More Than 400 Artists Paint Some Fuckin

दस राज्यों के 400 से अधिक कलाकार कुछ यूं जमा रहे हैं रंग

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जोधपुर.राजस्थान संगीत नाटक अकादमी, पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र उदयपुर, उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र पटियाला तथा उत्तर-मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र इलाहाबाद के सहयोग से आयोजित लोकानुरंजन मेला मंगलवार शाम को टाउन हॉल के खुले प्रांगण में शुरू हुआ। मुख्य अतिथि पूर्व विधायक जुगल काबरा थे। संचालन अकादमी अध्यक्ष डॉ. अर्जुनदेव चारण व दलपत परिहार व श्याम पंवार ने किया।
पहले दिन भरतपुर के कलाकारों ने मयूर नृत्य, चकरी नृत्य, जोधपुर के कलाकारों ने कालबेलिया डांस,पाली जिले के पादरला गांव के तेरह ताली नृत्य की प्रस्तुति दी। जैसलमेर के बाबू खां व फलौदी के उमराव खां लंगा एंड पार्टी ने लोक गीत, अलवर के नत्थी खां का बकरी मशक वादन, फारूख खां मेवाती का भपंग वादन दर्शकों के आकर्षण का केंद्र रहा। पुष्कर के नाथूलाल ग्रुप में उनके विदेशी शिष्य भी नगाड़ा वादन कर रहे थे।
बाड़मेर के कुशला-ठाकराराम ने भोपा-भोपी, लोक कला मंडल उदयपुर व जोधपुर के प्रेम भाट ने कठपुतली, बालोतरा के उकाराम एंड पार्टी ने लाल आंगी व बच्चों की गेर का प्रदर्शन किया। छंवरलाल व गोविंद मिरासी ने कच्छी घोड़ी का दमदार प्रदर्शन किया।
रंगारंग प्रस्तुति ने बिखेरी इंद्रधनुषी छटा
आयोजन के दूसरे चरण में टाउन हॉल में विभिन्न प्रदेशों की लोक संस्कृति के झलक नजर आई। उत्तराखंड के अलमोड़ा से आए नेहरू युवा सांस्कृतिक कला समिति के सदस्यों ने छोलिया व छपेली नृत्य पेश किया। पटना के संगीत सरगम के कलाकारों ने झरनी नृत्य पेश किया।
सागर एमपी से आए नुपूर लोक कला संस्थान ने बधाई नृत्य पेश किया। अलवर के फारूख व साथियों ने भपंग वादन किया तो जम्मू कश्मीर से आए कलाकारों ने जागरण नृत्य किया। इसी तरह अहमदाबाद के भरत भाई रावल व साथियों ने केरवानो नृत्य पेश किया। बारां की जनता देवी व सह कलाकारों ने चकरी नृत्य की प्रस्तुति दी।
नासिक महाराष्ट्र के अंबादास व साथियों ने सौंगी मुखौटा नृत्य पेश किया। गोवा के सूर्यकांत व साथियों की प्रस्तुति समई नृत्य ने आकर्षित किया तो पोरबंदर के आवड रास मंडल की प्रस्तुति ढाल तलवार रास, हरियाणा का पणिहारी नृत्य तथा पंजाब के गिद्दा ने दर्शकों से खूब वाहवाही पाई।