• Hindi News
  • Rajasthan
  • Karoli
  • संस्कृत स्कूल के आठ होनहार विद्यार्थियों को शिक्षक ने लिया गोद
--Advertisement--

संस्कृत स्कूल के आठ होनहार विद्यार्थियों को शिक्षक ने लिया गोद

Karoli News - विद्यार्थियोंमें स्वास्थ्य प्रतिस्पर्धा,पढ़ाई के प्रति जागरूकता पैदा करने की मंशा से राजकीय प्रवेशिका संस्कृत...

Dainik Bhaskar

May 03, 2017, 02:40 AM IST
संस्कृत स्कूल के आठ होनहार विद्यार्थियों को शिक्षक ने लिया गोद
विद्यार्थियोंमें स्वास्थ्य प्रतिस्पर्धा,पढ़ाई के प्रति जागरूकता पैदा करने की मंशा से राजकीय प्रवेशिका संस्कृत विद्यालय, हजारीपुरा के शिक्षक शांतनु पाराशर ने आठ होनहार विद्यार्थियों को गोद लिया है। आर्थिक रूप से असंपन्न इन मेधावियों की पढ़ाई का सालभर का पूरा खर्चा अब उन्हीं के जिम्मे होगा।

शिक्षक पाराशर ने बताया कि विद्यालय के 8 होनहार विद्यार्थियों का चयन करके उन्हें गोद लिया है। जिसके तहत अब वे पूरे वर्षभर निशुल्क रूप से कॉपी, पैन, स्कूल बैग, विद्यालयी गणवेश, ड्रॉइंग बॉक्स, ग्राफ, नक्शे, नोट्स एवं अन्य सभी प्रकार की शैक्षणिक सामग्री उन्हें उपलब्ध कराएंगे। शिक्षक की इस प्रेरणादायी पहल की प्रधानाध्यापक सहित पूरे गांव वालों ने सराहना की है।

गोदलेने का उद्देश्य

विद्यालयमें सभी विद्यार्थियों के बीच पढ़ाई के प्रति स्वस्थ प्रतिस्पर्धा हो। विद्यार्थियों में पूरे वर्षभर अधिकतम पढ़ाई करने की और अपने आप को श्रेष्ठ साबित करने की होड़ हो। विद्यालय के ऐसे होनहार विद्यार्थी जिनमें पढ़ने का जज्बा है,लेकिन वो आर्थिक असम्पन्नता की वजह से पढाई करने में समर्थ नहीं हैं,उन्हें शैक्षणिक वातावरण के साथ हर सुविधा संसाधन मुहैया हो सकें। ताकि आर्थिक असंपन्नता इनके विकास और शैक्षणिक स्तरीय सुधार में रोड़ा नहीं बने।

इनहोनहारों को लिया गोद

अभिषेकचतुर्वेदी, प्रियंका बैरवा,सोनू चतुर्वेदी, शिवानी चतुर्वेदी, दीपेंद्र चतुर्वेदी, अनुप्रिया जादौन,पवन चतुर्वेदी, अश्विनी चतुर्वेदी को गोद लिया है। इन आठ विद्यार्थियों में से 4 कक्षा दसवीं और दो-दो कक्षा सात आठवीं में अध्ययनरत हैं। शिक्षक शांतनु पाराशर ने पिछले साल भी सात विद्यार्थियों को गोद लिया था, उनका बोर्ड परीक्षा का परिणाम आने वाला है।

कार्यालय संवाददाता | करौली

विद्यार्थियोंमें स्वास्थ्य प्रतिस्पर्धा,पढ़ाई के प्रति जागरूकता पैदा करने की मंशा से राजकीय प्रवेशिका संस्कृत विद्यालय, हजारीपुरा के शिक्षक शांतनु पाराशर ने आठ होनहार विद्यार्थियों को गोद लिया है। आर्थिक रूप से असंपन्न इन मेधावियों की पढ़ाई का सालभर का पूरा खर्चा अब उन्हीं के जिम्मे होगा।

शिक्षक पाराशर ने बताया कि विद्यालय के 8 होनहार विद्यार्थियों का चयन करके उन्हें गोद लिया है। जिसके तहत अब वे पूरे वर्षभर निशुल्क रूप से कॉपी, पैन, स्कूल बैग, विद्यालयी गणवेश, ड्रॉइंग बॉक्स, ग्राफ, नक्शे, नोट्स एवं अन्य सभी प्रकार की शैक्षणिक सामग्री उन्हें उपलब्ध कराएंगे। शिक्षक की इस प्रेरणादायी पहल की प्रधानाध्यापक सहित पूरे गांव वालों ने सराहना की है।

गोदलेने का उद्देश्य

विद्यालयमें सभी विद्यार्थियों के बीच पढ़ाई के प्रति स्वस्थ प्रतिस्पर्धा हो। विद्यार्थियों में पूरे वर्षभर अधिकतम पढ़ाई करने की और अपने आप को श्रेष्ठ साबित करने की होड़ हो। विद्यालय के ऐसे होनहार विद्यार्थी जिनमें पढ़ने का जज्बा है,लेकिन वो आर्थिक असम्पन्नता की वजह से पढाई करने में समर्थ नहीं हैं,उन्हें शैक्षणिक वातावरण के साथ हर सुविधा संसाधन मुहैया हो सकें। ताकि आर्थिक असंपन्नता इनके विकास और शैक्षणिक स्तरीय सुधार में रोड़ा नहीं बने।

इनहोनहारों को लिया गोद

अभिषेकचतुर्वेदी, प्रियंका बैरवा,सोनू चतुर्वेदी, शिवानी चतुर्वेदी, दीपेंद्र चतुर्वेदी, अनुप्रिया जादौन,पवन चतुर्वेदी, अश्विनी चतुर्वेदी को गोद लिया है। इन आठ विद्यार्थियों में से 4 कक्षा दसवीं और दो-दो कक्षा सात आठवीं में अध्ययनरत हैं। शिक्षक शांतनु पाराशर ने पिछले साल भी सात विद्यार्थियों को गोद लिया था, उनका बोर्ड परीक्षा का परिणाम आने वाला है।

कार्यालय संवाददाता | करौली

विद्यार्थियोंमें स्वास्थ्य प्रतिस्पर्धा,पढ़ाई के प्रति जागरूकता पैदा करने की मंशा से राजकीय प्रवेशिका संस्कृत विद्यालय, हजारीपुरा के शिक्षक शांतनु पाराशर ने आठ होनहार विद्यार्थियों को गोद लिया है। आर्थिक रूप से असंपन्न इन मेधावियों की पढ़ाई का सालभर का पूरा खर्चा अब उन्हीं के जिम्मे होगा।

शिक्षक पाराशर ने बताया कि विद्यालय के 8 होनहार विद्यार्थियों का चयन करके उन्हें गोद लिया है। जिसके तहत अब वे पूरे वर्षभर निशुल्क रूप से कॉपी, पैन, स्कूल बैग, विद्यालयी गणवेश, ड्रॉइंग बॉक्स, ग्राफ, नक्शे, नोट्स एवं अन्य सभी प्रकार की शैक्षणिक सामग्री उन्हें उपलब्ध कराएंगे। शिक्षक की इस प्रेरणादायी पहल की प्रधानाध्यापक सहित पूरे गांव वालों ने सराहना की है।

गोदलेने का उद्देश्य

विद्यालयमें सभी विद्यार्थियों के बीच पढ़ाई के प्रति स्वस्थ प्रतिस्पर्धा हो। विद्यार्थियों में पूरे वर्षभर अधिकतम पढ़ाई करने की और अपने आप को श्रेष्ठ साबित करने की होड़ हो। विद्यालय के ऐसे होनहार विद्यार्थी जिनमें पढ़ने का जज्बा है,लेकिन वो आर्थिक असम्पन्नता की वजह से पढाई करने में समर्थ नहीं हैं,उन्हें शैक्षणिक वातावरण के साथ हर सुविधा संसाधन मुहैया हो सकें। ताकि आर्थिक असंपन्नता इनके विकास और शैक्षणिक स्तरीय सुधार में रोड़ा नहीं बने।

इनहोनहारों को लिया गोद

अभिषेकचतुर्वेदी, प्रियंका बैरवा,सोनू चतुर्वेदी, शिवानी चतुर्वेदी, दीपेंद्र चतुर्वेदी, अनुप्रिया जादौन,पवन चतुर्वेदी, अश्विनी चतुर्वेदी को गोद लिया है। इन आठ विद्यार्थियों में से 4 कक्षा दसवीं और दो-दो कक्षा सात आठवीं में अध्ययनरत हैं। शिक्षक शांतनु पाराशर ने पिछले साल भी सात विद्यार्थियों को गोद लिया था, उनका बोर्ड परीक्षा का परिणाम आने वाला है।

करौली. हजारीपुरासंस्कृत विद्यालय में गोद लिए होनहार आठ विद्यार्थियों के साथ शिक्षक शांतनु पाराशर।

X
संस्कृत स्कूल के आठ होनहार विद्यार्थियों को शिक्षक ने लिया गोद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..