पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • शिशु और मातृ मृत्यु दर का मामला संसद में पहुंचा

शिशु और मातृ मृत्यु दर का मामला संसद में पहुंचा

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा| कोटा-बूंदीसांसद ओम बिरला ने शुक्रवार को संसद में शिशु और मातृ दर का मामला उठाते हुए आईएमआर और एमएमआर के नियंत्रण के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों एवं उन पिछले वर्षों में जारी एवं उपयोग की गई धनराशि की जानकारी मांगी।

बिरला के प्रश्न का उत्तर देते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने उल्लेख किया कि भारत के महापंजीयक (आरजीआई) की नमूना पंजीकरण प्रणाली रिपोर्ट, 2013 के अनुसार भारत में नवजात शिशु मृत्यु दर प्रति 1000 जीवित जन्मों पर 40 है। इस रिपोर्ट के 2011-13 के अनुसार देश में मातृ मृत्यु अनुपात प्रति 1,00,000 जीवित जन्मों पर 167 है। एमडीजी 4 का लक्ष्य 1990 से 2015 के बीच दो तिहाई बच्चों में मृत्यु दर में कमी लाना है। भारत के मामले में यह नवजात मृत्यु दर में 1990 में प्रति हजार जीवित जन्मों पर 88 से 2015 में 29 तक कमी लाने के लक्ष्य में बदलना है।

खबरें और भी हैं...