• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • मंत्री के हाथों जिन्हें पट्‌टे बंटवाए, उनमें से भी 5 पर नगर निगम ने लगा दिया आॅब्जेक्शन

मंत्री के हाथों जिन्हें पट्‌टे बंटवाए, उनमें से भी 5 पर नगर निगम ने लगा दिया आॅब्जेक्शन

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगरनिगम द्वारा पट्टे बनाने के नाम पर राहत देने की बजाय का परेशानी बांट रहा है। पहले मंत्री को दिखाने के लिए समारोह में 7 पट्‌टे बांटे फिर वापस ले लिए, अब उनमें से भी 5 पर आब्जेक्शन लगा दिया। वहीं, सिंधी काॅलोनी के जो लोग 65 सालों से पट्टे का इंतजार कर रहे थे, पहले उनके पट्टे बनाना शुरू और फिर अचानक पठारी क्षेत्र बताकर उनके पट्‌टे रोक दिए गए। नगर निगम द्वारा पारदर्शिता नहीं रखने से आम जनता पार्षदों के चक्कर काट रही है और पार्षद निगम से जवाब मांग रहे हैं, लेकिन कोई संतोष जनक जवाब नहीं दे पा रहा है।

नगर निगम द्वारा 10 मई से मुख्यमंत्री जनकल्याण शिविर शुरू किए थे। मल्टीपरपज स्कूल में लगे पहले शिविर में वार्ड 64 की सिंधी काॅलोनी के लोगों के भी आवेदन लिए गए थे। इन लोगों को पिछले 65 सालों से पट्टे का इंतजार था। पिछली कांग्रेस सरकार ने इस काॅलोनी के कुछ लोगों को पट्टे दिए थे, लेकिन सरकार बदलते ही पट्टे देना बंद कर दिया। अब इस बार फिर लोगों को आस जगी थी। जिन लोगों ने आवेदन किए थे, निगम ने उनके पट्टे बनाना शुरु भी कर दिए। करीब 12 लोगों के पट्टे बन गए, फिर अचानक पट्टे बनाना बंद कर दिया, जो लोग पट्टे के लिए चक्कर काट रहे थे, उन्हें बताया गया कि सिंधी काॅलोनी पठार क्षेत्र में गई इसलिए पट्टे नहीं दिए जा सकते। अब लोग कभी पार्षद रमेश आहूजा तो कभी निगम के चक्कर काट रहे हैं।

इसी तरह इसी शिविर में प्रभारी मंत्री प्रभुलाल सैनी को दिखाने के लिए निगम ने तुरत-फुरत में 7 पट्‌टे के तैयार कर मंत्री के हाथों से बंटवा भी दिए। बाद में उन्हें ये कहकर वापस ले लिया कि एम्पावर्ड कमेटी की बैठक में सदस्यों के साइन होना बाकी है। पिछले दिनों एम्पावर्ड कमेटी की बैठक हुई तो उनमें से 5 पट्टों पर आब्जेक्शन लगा दिया। लोग पार्षद बृजेश शर्मा नीटू के पास पहुंचे। उन्होंने निगम में पट्टा शाखा में पता किया तो बताया कि उनमें कई कमियां थी, इसलिए रोक लगाई है।

^सिंधी काॅलोनी 70 साल से वहीं पर है। घनी आबादी में है। पहले कांग्रेस सरकार ने पट्टे दिए, अब भाजपा सरकार पट्टे दे रही थी, फिर अचानक ये पठारी क्षेत्र में कैसे गई। निगम आम जनता को नियमों में उलझा रहा है। -रमेश आहूजा, पार्षद

^जब7 लोगों के पट्टे बनाकर मंत्री से बंटवाए थे, तब आब्जेक्शन और कमियां क्यों नहीं देखी। यदि उनमें कमियां है तो क्या निगम के अधिकारी मंत्री के सामने मजाक कर रहे थे। अब लोगों को परेशान किया जा रहा है।-बृजेश शर्मानीटू, पार्षद

खबरें और भी हैं...