पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अदालत कर्मियों ने दिया धरना

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा| कोटाजिले में न्यायिक कर्मचारियों द्वारा बेमियादी सामूहिक अवकाश के चलते दूसरे दिन शुक्रवार को भी न्यायालयों में कामकाज पूरी तरह से ठप रहा। नो पार्किंग और बिना हेलमेट को लेकर जब्त की गई गाड़ियों को छुड़ाने के लिए चालक अदालतों के चक्कर लगाते रहे दूसरे दिन 21 जुलाई को पेशियों की फाइलें आलमारियों से बाहर नहीं सकी। अदालतों में न्यायिक कामकाज पूरी तरह से ठप रहा। अदालतों में लगभग 3000 से अधिक केसों में सुनवाई नहीं हो सकी। कर्मचारी गुरुवार से शेट्टी पे कमीशन की शेष सिफारिशों की मांग के लिए आंदोलित है।

जेलसे नहीं आए बंदी : कोटाजेल से गुरुवार और शुक्रवार को बंदी पेशियों पर नहीं आए। पुलिस केवल बंदियों के वारंट ही कोर्ट लाई। कोर्ट से वारंटों पर अगली तारीखें मिलने के बाद वापस जेल ले गई। अदालतों में न्यायिक कामकाज नहीं होने से दूर दराज से गांव से आए गवाह बिना बयान दिए वापस लौट रहे हैं। नकल सेक्शन विभाग में न्यायिक कामकाज ठप पड़ा है। अदालतें तो खुल रही है लेकिन उनके कार्यालय बंद पड़े हैं।

खबरें और भी हैं...