• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kota
  • कार की डिक्की में हमेशा रखते हैं चप्पल, जो भी नंगे पैर दिखे, उसे पहना देते हैं
विज्ञापन

कार की डिक्की में हमेशा रखते हैं चप्पल, जो भी नंगे पैर दिखे, उसे पहना देते हैं

Dainik Bhaskar

Jul 18, 2016, 04:17 AM IST

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से प्रेरित होकर कोटा के पटरीपार काला तालाब निवासी अब्दुल हमीद गौड़ जरूरतमंदों की मदद के लिए तैयार रहते हैं।

अब्दुल हमीद पिछले तीन साल से वह अपनी कार में हमेशा 15 से 20 जोड़ी चप्पलें रखते हैं। अब्दुल हमीद पिछले तीन साल से वह अपनी कार में हमेशा 15 से 20 जोड़ी चप्पलें रखते हैं।
  • comment
कोटा. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से प्रेरित होकर कोटा के पटरीपार काला तालाब निवासी अब्दुल हमीद गौड़ जरूरतमंदों की मदद के लिए तैयार रहते हैं।

पिछले तीन साल से वह अपनी कार में हमेशा 15 से 20 जोड़ी चप्पलें रखते हैं और किसी को भी नंगे पैर देखते ही चप्पल पहना देते हैं। इसके अलावा वे हर साल काला तालाब स्थित सरकारी स्कूल के जरूरतमंद बच्चों को यूनिफार्म देते हैं और एक साल में 20 बोरी गेहूं भी जरूरतमंदों को बांटते हैं।
इस बार 29 स्कूली बच्चों का यूनिफॉर्म तैयार करवा रहे
कालातालाब के सरकारी स्कूल के बच्चों को गाैड़ यूनिफॉर्म भी देते हैं। पिछले साल 10 बच्चों के लिए प्रिंसिपल ने कहा था। इस बार 29 बच्चों की सूची सौंपी है। गौड़ ने सभी बच्चों के बारे में क्षेत्र के एक टेलर को बता दिया है। बच्चे वहां जाकर नाप दे रहे हैं और उनके नाप के अनुसार ही ड्रेस बनेगी।

20 बोरी गेहूं हर साल बांटने का लक्ष्य: गौड़ अपनी 25 बीघा जमीन पर खेती करते हैं। इसमें पैदा होने वाले गेहूं में से हर साल वह 20 बोरी गेहूं जरूरतमंदों को बांटने का उन्होंने लक्ष्य रखा है। इसके अलावा आवश्यकता पड़ने पर चावल भी देते हैं।
जीवन में पैसे का महत्व नहीं : गौड़
गौड़ ने बताया कि वे हमेशा से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को पसंद करते हैं। तीन साल पहले उनकी एक किताब पढ़ी, जिसमें लिखा था कि जो कुछ है वो यहीं है। जीवन में पैसों का कोई महत्व नहीं है। जीवन में दूसरों की मदद करना ही काम आएगा।
गौड़ ने बताया कि यह बात मेरे दिमाग में घर कर गई। उस समय अचानक उनके दिमाग में एक आडिइया आया कि धूप में नंगे पैर चलने वालों की मदद की जाए। इसके लिए वह हमेशा अपनी कार में चप्पलें रखने लगे और जहां भी कोई नंगे पैर दिखता है, उसे तुरंत वह चप्प्ल पहनाते है। कभी यदि किसी के नाप की चप्पल नहीं होती है तो वह उस जरूरतमंद को चप्पल लेने के लिए पैसे तक दे देते हैं।

कार की डिक्की में हमेशा रखते हैं चप्पल, जो भी नंगे पैर दिखे, उसे पहना देते हैं
  • comment
X
अब्दुल हमीद पिछले तीन साल से वह अपनी कार में हमेशा 15 से 20 जोड़ी चप्पलें रखते हैं।अब्दुल हमीद पिछले तीन साल से वह अपनी कार में हमेशा 15 से 20 जोड़ी चप्पलें रखते हैं।
कार की डिक्की में हमेशा रखते हैं चप्पल, जो भी नंगे पैर दिखे, उसे पहना देते हैं
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन