पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शराब गोदाम पर एसीबी का छापा, बाबू के पास मिले ‌63 हजार रुपए जब्त

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा. रानपुर स्थित आबकारी विभाग के देसी शराब गोदाम पर सोमवार को एसीबी स्पेशल यूनिट की टीम ने छापा मार दिया। यहां एक बाबू के कब्जे से 63 हजार रुपए जब्त किए हैं। इनमें से 50 हजार रुपए एक ऐसे लिफाफे में थे, जो शादी में उपहार राशि देने में काम आता है। आशंका है कि यह रकम कुछ देर पहले ही उसे कोई देकर गया था। संतोषप्रद जवाब नहीं देने पर एसीबी ने यह रकम जब्त कर ली। 

स्पेशल यूनिट के प्रभारी एएसपी अरुण माच्या ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से लगातार ऐसी सूचना आ रही थी कि रानपुर स्थित गोदाम में कार्यरत कनिष्ठ लिपिक कुन्हाड़ी निवासी बबलू बैरवा (42) ठेकेदारों को पेटियां इश्यू करने के एवज में पैसा लेता है। पुख्ता सूचना के बाद सोमवार शाम 4 बजे छापा मारा, जहां बबलू मौजूद था। उसकी तलाशी ली तो उसके पास 63 हजार रुपए मिले। पूछताछ पर बताया कि यह रकम किसी का उधार चुकाने के लिए वह बैंक से निकलवाकर लाया था। हालांकि जवाब संतोषप्रद नहीं मिलने पर पूरी रकम जब्त कर ली गई है। बैरवा को कुछ दिनों पहले ही जिला आबकारी अधिकारी कार्यालय से रानपुर स्थित इस डिपो पर लगाया गया था। यहां देसी मदिरा की बॉटलिंग होती है और यहीं से शराब इश्यू की जाती है।

टालमटोल से बरसता था पैसा: एसीबी अधिकारियों ने बताया कि इस गोदाम पर शराब इश्यू करने का सारा काम बबलू के पास ही है। आशंका यह है कि ठेकेदारों को जानबूझकर डिले करने और समय पर निपटाने के एवज में रुपयों का लेन-देन होता था। क्योंकि यह बाबू के अधिकार क्षेत्र में है कि वह चाहे तो किसी भी बहाने से टालकर ठेकेदार को एक-दो दिन शराब देने में देर कर दे। यहीं से भ्रष्टाचार का खेल शुरू होता है और पैसा देते ही तत्काल शराब इश्यू कर दी जाती। कुछ समय पहले इस बाबू के खिलाफ छुट्टी के दिन भी गोदाम खोलने की शिकायत मिली थी।
 
नकद का कोई काम नहीं
 
डिपो का प्रभार दो माह से आबकारी निरीक्षक बशारत अली के पास है। उन्होंने बताया कि डिपो पर नकद पैसों के लेन-देन का कोई काम नहीं है। ठेकेदार बैंक में चालान के जरिए पैसा जमा कराते हैं। उस चालान की जिला आबकारी अधिकारी कार्यालय में एंट्री होती है और उसके आधार पर कंप्यूटर से मिलान कर डिपो से शराब इश्यू कर दी जाती है।
 
घर की तलाशी ली: रानपुर में कार्रवाई के बाद एसीबी कोटा चौकी के एएसपी ठाकुर चंद्रशील की अगुवाई में एक टीम ने बबलू बैरवा के कुन्हाड़ी स्थित मकान की तलाशी ली। यहां कुछ दस्तावेज मिले हैं, जिनकी जांच की जा रही है। एएसपी ने बताया कि घर की तलाशी में कोई ऐसा एमाउंट नहीं मिला, जो संदिग्ध हो। इसी मकान के दस्तावेज मिले हैं। बैंक खातों आदि की जानकारी जुटाई जा रही है।
 
खबरें और भी हैं...