अब शादियों के लिए रेलवे किराए पर देगा प्लेटफार्म, यहां हो सकती हैं शादियां

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटा. कुछ अलग हटकर शादी करने का जुनून रखने वालों के लिए ये अच्छी खबर हो सकती है कि रेलवे अब शादी समारोह के लिए प्लेटफार्म किराए पर देगा। इसके लिए छोटे-छोटे स्टेशनों का चयन किया जाएगा, जहां आवाजाही सामान्य तौर पर कम रहती है। ये प्रस्ताव हाल ही रेलवे बोर्ड को भेजा गया है। रेलवे बोर्ड ने भी ट्विटर पर इसे जारी कर दिया है। ट्रायल के तौर पर सूरत से इसकी शुरुआत की जाएगी। उसके बाद सभी 16 जोन में इसे लागू कर दिया जाएगा।

रेलवे ने नॉन फेयर रेवेन्यू प्रपोजल स्कीम में 14 हजार करोड़ रुपए की कमाई का लक्ष्य रखा है। इसके तहत ट्रेनों पर विज्ञापन लगाने सहित कई योजना बनाई गई है। उसमें ये भी प्रस्ताव आया है कि शादियों के सीजन में ऐसे स्टेशनों को शादी समारोह के लिए किराए पर दिया जाए जहां भीड़भाड़ कम रहती है और ट्रेनों की आवाजाही भी कम होती हो। इस प्रस्ताव के तहत पायलेट प्रोजेक्ट में सूरत के स्टेशनों पर ट्रायल की जाएगी। बुकिंग विंडो पर ही इसकी बुकिंग व किराया तय होगा। ट्रायल के सफल होने के बाद इसे देश के सभी 16 रेलवे जोन में लागू कर दिया जाएगा। वहां के डीआरएम को इसकी जिम्मेदारी दी जाएगी कि वे अपने-अपने क्षेत्र के ऐसे स्टेशनों की सूची तैयार करे जहां कम ट्रेनें रुकती हो और लोकेशन भी अच्छी हो।
 
कोटा में इन स्टेशनों पर हो सकती हैं शादियां
 
कोटा में कोटा सिटी स्टेशन, ढकनिया स्टेशन, रावठा रोड, मंडाना, गुडला, दाढदेवी, झालावाड़ रोड आदि स्टेशनों पर केवल पैसेंजर ट्रेनें ही रुकती है। इनमें से कुछ स्टेशनों को इसके लिए तैयार किया जा सकता है।
 
पश्चिम मध्य रेलवे के सीपीआरओ सुरेंद्र यादव ने बताया कि अभी तक रेलवे बोर्ड से इस तरह का लिखित आदेश तो प्राप्त नहीं हुआ है, लेकिन इस संबंध में रेलवे बोर्ड का ट्वीट पढ़ा था। आदेश आते ही इसकी सूची तैयार करवाई जाएगी।
 
सुपरफास्ट होगी कोटा-इंदौर इंटरसिटी
 
कोटा-इंदौर-कोटा इंटरसिटी एक्सप्रेस 1 जून से सुपरफास्ट हो जाएगी। गाड़ी की स्पीड बढ़ाई जाएगी, जिससे इसकी समय सारिणी भी बदलेगी। साथ ही इस गाड़ी के नंबर भी बदल जाएंगे।

निजामुद्‌दीन से पुणे के बीच कोटा होकर चलेगी स्पेशल ट्रेन : निजामुद्‌दीन से पुणे के बीच कोटा होकर स्पेशल ट्रेन चलेगी। यात्रियों की मांग को देखते हुए रेल प्रशासन ने यह निर्णय किया है। जोन के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि 17 जनवरी से 27 जून तक प्रत्येक मंगलवार को निजामुद्दीन से पुणे के बीच यह गाड़ी चलेगी। वहीं 19 मार्च से 28 जून तक प्रत्येक गुरुवार को पुणे से निजामुद्दीन के बीच गाड़ी चलेगी। यह गाड़ी छह माह के लिए अस्थायी तौर पर चलाई जाएगी। जिसमें एक एसी फर्स्ट , 5 एसी सैकंड, 8 एसी थर्ड, 1 एसी पेंट्रीकार, 2 एसी एसएलआर के साथ कुल 17 कोच होंगे।
खबरें और भी हैं...