--Advertisement--

स्कूल के लोकापर्ण में बोले MLA कहा- संस्कृत जिंदा रहे तो देश की संस्कृति जिंदा रहेगी

अपने दम पर संघर्ष कर यूआईटी से जमीन आवंटन करवाकर बच्चों के लिए सुविधायुक्त स्कूल भवन बनाना।

Dainik Bhaskar

Mar 06, 2016, 03:23 AM IST
विधायक भवानीसिंह राजावत। विधायक भवानीसिंह राजावत।
कोटा. अपने दम पर संघर्ष कर यूआईटी से जमीन आवंटन करवाकर बच्चों के लिए सुविधायुक्त स्कूल भवन बनाना। यह चुनौतीपूर्ण कार्य शहर के गोविंद नगर स्थित संस्कृत राप्रावि के प्रधानाध्यापक शिवलाल मीणा ने कर दिखाया है। इसी स्कूल का लोकार्पण विधायक भवानीसिंह राजावत ने शनिवार को किया। राजावत ने प्रधानाध्यापक के हौसले की सराहना की।
अनिवार्य हो संस्कृत की पढ़ाई
विधायक राजावत ने कहा कि संस्कृत भाषा ऐच्छिक नहीं अनिवार्य होनी चाहिए। वह भी कक्षा 12वीं तक। इसमें देश की संस्कृति की जड़े हैं। अंग्रेजी ने इसमें तेजाब डालने का काम किया है। संस्कृत जिंदा रहेगी तो देश की संस्कृति जिंदा रहेगी। अध्यक्षता उपमहापौर सुनीता व्यास ने की। कार्यक्रम को भाजपा कार्य समिति सदस्य सत्यभान सिंह, स्थानीय पार्षद गिरिराज महावर ने भी संबोधित किया।
स्कूल कैंपस में यह की घोषणा
समारोह में राजावत ने बंगाली कॉलोनी के मंदिर की अधूरी छत को पूरा करवाने के लिए चार लाख रुपए, स्कूल में सीसी के लिए निगम या यूआईटी से दो-तीन लाख रुपए से कार्य, गोविंद नगर एरिया में पांच हाईमास्ट लाइटें लगाने की घोषणा की। उन्होंने गोविंद नगर में तीन साल में सेकंडरी से सीनियर स्कूल बनवाने की घोषणा की। गोविंद नगर हनुमान मंदिर और कंसुआ में भी सिंहद्वार के अलावा गोविंद नगर में ही गार्डन स्वीकृत करवाने की घोषणा भी की।
X
विधायक भवानीसिंह राजावत।विधायक भवानीसिंह राजावत।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..