• Hindi News
  • Latest News Hindi News Kota News City News Rajasthan News Highway Road

सर्विस रोड नहीं बनी तो हाईवे को बना लिया आम रास्ता

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोटा. राष्ट्रीय राजमार्ग-76 पर बन रहे बाईपास के साथ सर्विस रोड नहीं होने के कारण लोगों ने कॉलोनी का रास्ता जगह-जगह सीधा हाईवे पर खोल दिया है। ऐसा करने के लिए लोगों ने हाईवे के किनारे बनी रेलिंग्स को काट दिया। इसके लिए जहां हाईवे अथॉरिटी रास्ता निकालने वालों के खिलाफ कार्रवाई न करने के लिए यूआईटी को जिम्मेदार बता रहा है, वहीं यूआईटी ने सर्विस रोड न बनाने का कारण हाईवे अथॉरिटी से पूछा है।

हाइवे पर बन रहा बाईपास उदयपुर रोड से रावतभाटा रोड को क्रॉस करते हुए झालावाड़ रोड होकर बारां रोड पर मिल रहा है। पिछले 6 साल से इसका काम चल रहा है, लेकिन आरओबी व हैंगिंग ब्रिज का काम पूरा नहीं होने से इसका उपयोग लोगों के लिए शुरू नहीं हो पाया। केवल रायपुरा कैथून रोड से बारां रोड के बीच के बाईपास का ही उपयोग वाहनचालक कर रहे हैं। 26 किमी के इस बाईपास के किनारे एनएचएआई को सर्विस रोड बनानी थी, जिसके लिए किसानों की जमीन अधिगृहीत कर ली गई। विभाग ने सर्विस रोड नहीं बनाई, जिससे यहां नई कॉलोनी की प्लानिंग करने वालों ने हाइवे पर ही जगह-जगह कट लगा दिए।

गलती सुधारी नहीं, जिम्मेदारी यूआईटी पर डाल दी

कैथून रोड से बारां रोड के बीच में लगभग 6 जगह पर नई कॉलोनी विकसित करने के लिए हाइवे पर कट लगा दिए हैं। एनएचएआई अधिकारियों ने इनको बंद कराने के लिए यूआईटी को पत्र लिख दिया। इसके साथ ही अथॉरिटी की अधिकारी प्रतिभा गर्ग ने कहा कि बाईपास लोगों को दुर्घटना से बचाने के लिए बनाया जाता है, लेकिन लोगों ने यहीं पर कॉलोनी बसाना करना शुरू कर दिया।

इस पर यूआईटी कार्रवाई नहीं कर रहा। उधर, यूआईटी सचिव आरडी मीणा ने कहा कि शहर के विकास के साथ नई कॉलोनियां तो विकसित होंगी ही। गलती एनएचएआई की है, जिसके अधिकारियों ने यहां सर्विस रोड नहीं बनाई। उन्होंने कहा कि झालावाड़ रोड से रावतभाटा रोड की ओर सर्विस रोड बनाई गई, जबकि आवश्यकता झालावाड़ रोड से बारां रोड तक सर्विस रोड बनाने की है। इस बारे में एनएचएआई को सलाह भी दी जा चुकी है।