पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • न्याय के स्वामी शनि 21 जून से वृश्चिक राशि में करेंगे प्रवेश

न्याय के स्वामी शनि 21 जून से वृश्चिक राशि में करेंगे प्रवेश

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
6अप्रैल से धनु राशि में वक्रीय शनि 21 जून को वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। जो 25 अगस्त शाम 5.35 बजे तक वृश्चिक राशि में ही रहेंगे। वृश्चिक मंगल की राशि है।

इससे यह मंगल के कारक भूमि, खनन, मशीनरी आदि में खलल डाल सकते हैं। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार शनि 25 अगस्त शाम 5.36 बजे से मार्गी होकर चलेंगे। जो 26 अक्टूबर को दोपहर 3.30 बजे धनु राशि में प्रवेश करेंगे।

ऐसे में मेष, सिंह, तुला, वृश्चिक और धनु राशि वाले जातकों को शारीरिक और मानसिक आरोग्य का ध्यान रखना होगा। इस अवधि में उन्हें विशेष एहतियात बरतनी पड़ सकती है।

इनके लिए यह दौर भाग-दौड़ भरा रहेगा, क्योंकि इन राशि के जातक ढैया और साढ़े साती के प्रभाव में रहेंगे। वहीं वृष, कन्या और मकर राशि वाले जातक अपने परिश्रम का पूरा फल प्राप्त करेंगे। मीन, कुंभ, कर्क और मिथुन राशि वाले जातकों को मध्यम लाभ और खुशी के अवसर मिलेंगे।

सेवाकर बच सकते हैं शनि के प्रकोप से

ज्योतिषियोंके अनुसार जिन जातकों को साढ़े साती और ढैया सता सकती है वे इससे बचने के लिए बुजुर्गों और जरूरतमंद लोगों आदि की निस्वार्थ भाव से सेवा करें।

शनि के 26 अक्टूबर को धनु राशि में प्रवेश करने से न्याय पालिका में 20 अक्टूबर से 26 अक्टूबर के बीच कुछ चौंकाने वाले फैसले भी देखने को मिल सकते हैं, क्योंकि शनि न्याय के स्वामी हैं। ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि जरूरतमंद लोगों, बुजुर्गों और दीन-दुखियों की सेवा का कार्य करने से शनि की ढैया और साढ़े साती में राहत मिल सकती है।

जानिए,किस राशि पर कब तक साढ़े साती का प्रभाव

मेषपर शनि की अष्टम ढैय्या, 2014 से शुरू हुई। अब इसका अंतिम चरण है। सिंह में भी 2014 से चतुर्थ ढैय्या का आरंभ हुआ था। जो 26 अक्टूबर, 2017 तक रहेगा।

तुला पर साढ़े साती की अवधि 2009 से 26 अक्टूबर 2017 तक है। वृश्चिक में इसका प्रभाव 15 नवंबर 2011 से आरंभ हुआ है और 24 जनवरी 2020 तक रहेगा। इसी प्रकार धनु राशि की साढ़ेसाती जो 2 नवम्बर 2014 से शुरू हुई है, वह 17 जनवरी 2023 तक रहेगी।

ग्रह-चाल

खबरें और भी हैं...